रुद्राक्ष की माला धारण करने के बाद इन 5 बातों का रखें खास ध्यान, नहीं तो फायदे के जगह उठाने पड़ जायेंगे नुकसान!

- Advertisement -

रुद्राक्ष की माला को हिंदू धर्म में बहुत पवित्र माना जाता है और इसे धारण करने के अनेक लाभ बताए गए हैं। हालांकि, यदि रुद्राक्ष की माला धारण करते समय कुछ महत्वपूर्ण बातों का ध्यान न रखा जाए, तो इसके फायदे की जगह नुकसान हो सकते हैं।

यहां 5 महत्वपूर्ण बातें बताई गई हैं जिनका ध्यान रखना चाहिए:

1. शुद्धता और पवित्रता का ध्यान रखें:

रुद्राक्ष की माला को धारण करते समय अपनी शुद्धता और पवित्रता का ध्यान रखना अत्यंत महत्वपूर्ण है। स्नान के बाद ही माला को धारण करें और उसे हमेशा स्वच्छ रखें। इसके अलावा, माला को अपवित्र स्थानों पर न रखें और इसे बिना कारण किसी को छूने न दें।

2. नियमित रूप से पूजा करें:

रुद्राक्ष की माला की नियमित पूजा और अभिषेक करना आवश्यक है। इसे गंगाजल या शुद्ध जल से धोकर धूप-दीप दिखाएं और भगवान शिव का ध्यान करें। इससे माला में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है और इसके धारण करने से अधिक लाभ मिलते हैं।

3. सही मंत्र का उच्चारण:

रुद्राक्ष की माला का उपयोग करते समय सही मंत्र का उच्चारण करें। अगर आप माला का उपयोग जप के लिए कर रहे हैं तो मंत्र का उच्चारण शुद्धता और स्पष्टता के साथ करें। किसी योग्य गुरु से मंत्र दीक्षा लेकर ही मंत्र का जाप शुरू करें।

4. अनुचित कार्यों से बचें:

रुद्राक्ष की माला धारण करते समय अनुचित कार्यों और विचारों से बचें। इसके धारण करने के बाद शराब, मांस, और तामसिक भोजन का सेवन न करें। साथ ही, क्रोध, ईर्ष्या और नकारात्मक विचारों से भी दूर रहें।

5. सोते समय माला उतार दें:

रात में सोते समय रुद्राक्ष की माला को उतारकर रख दें। इसे किसी पवित्र स्थान पर, जैसे कि मंदिर या पूजा स्थल पर रखें। इसे गंदे या अपवित्र स्थानों पर न रखें। सोते समय माला धारण करने से इसके मोतियों को नुकसान पहुंच सकता है और इससे नकारात्मक ऊर्जा का संचरण हो सकता है।

रुद्राक्ष की माला धारण करना एक पवित्र और महत्वपूर्ण क्रिया है जो आध्यात्मिक और मानसिक शांति प्रदान करती है। इन पाँच बातों का ध्यान रखकर आप रुद्राक्ष की माला से अधिकतम लाभ प्राप्त कर सकते हैं और किसी भी प्रकार के नुकसान से बच सकते हैं।

Disclaimer: इस आलेख में दी गई जानकारियों धार्मिक मान्यताओं और धर्माचार्यों के संदेशों पर आधारित है। स्वराज टुडे न्यूज़ इसकी विश्वसनीयता का दावा नही करता।

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
506FansLike
50FollowersFollow
850SubscribersSubscribe

मामूली विवाद पर हत्या की कोशिश, विधि से संघर्षरत सभी आरोपी...

छत्तीसगढ़ कोरबा-करतला/स्वराज टुडे: दिनांक 16 जुलाई 2824 की रात्रि लगभग 20 बजे थाना करतला क्षेत्र के ग्राम नोनबिर्रा का एक अव्यस्क बालक अपने भाइयों के...

Related News

- Advertisement -