सावधान: बाज़ार में बिक रहे खुलेआम नकली मसाले, जोखिम में लोगों की जान, ऐसे करें असली और नकली मसालों की पहचान

- Advertisement -

नई दिल्ली/स्वराज टुडे: कम समय में रईस बनने के जुनून में कुछ व्यापारी खुलेआम लोगों की जान के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं. इसका खुलासा तब हुआ जब दिल्ली में हाल ही में नकली मसाला बनाते कुछ लोगों को गिरफ्तार किया गया. ये लोग सड़े चावल, नारियल और एसिड से बड़ी मात्रा में नकली मसाला बना रहे थे. इन लोगों से लगभग 15 टन नकली मसाला और बनाने का सामान जब्त किया गया है . ये मसाला दिखने में हमारे द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले मसालों की तरह ही दिख रहा था . ऐसे में लोगों के मन में ये सवाल उठ रहा होगा कि आखिर असली और नकली मसाले की पहचान की कैसे जाए . तो चलिए आज हम इस स्टोरी में यही जानते हैं .

कैसे की जाए असली और नकली मसाले की पहचान?

भारतीय किचन में जब सब्जी का तड़का दिया जाता है तो उसकी खुशबू बाहर तक जाती है. ये तब होता है जब आप शुद्ध चीजों का इस्तेमाल कर खाना पका रहे हैं, लेकिन सवाल ये उठता है कि आखिर पता कैसे लगाया जाए कि कौन सा मसाला शुद्ध है और कौन सा नहीं. तो असली और नकली मसालों की आसानी से पहचान के लिए हमारे पास कुछ बेहतरीन ट्रिक्स हैं.

लाल मिर्च पाउडर

देसी खाने में लाल मिर्च का स्वाद न हो तो खाना अधुरा ही रह जाता है. आजकल लाल मिर्च को कपड़ों की डाई कलर, लाल ईंट या कबेलू को बारीक पीसकर बनाया जा रही है. इसकी पहचान के लिए पानी में लाल मिर्च पाउडर डालकर देख सकते हैं. इस बीच यदि पाउडर पानी पर तैरता है तो ये असली है. अगर लाल मिर्च पाउडर पानी में घुल जाये या डूब जाये तो समझ जायें कि इसमें मिलावट की गई है.

धनिया पाउडर

धनिया पाउडर किसी भी व्यंजन में स्वाद बढ़ाने का काम करता है. आजकल नकली धनिया पाउडर को पशुओं का मल, भूसा और यहां तक कि खरपतवार को भी बारीक पीसकर बनाया जा रहा है. इतना ही नहीं, कई लोग आटे की भुसी को भी हरा रंगकर मिलाकर देते हैं. इसकी पहचान आसान है. धनिया की खूशबू तेज होती है. यदि इसमें से कोई खूशबू न आये या कुछ जंगली पौधों की खुशबू आये तो समझ जायें कि धनिया पाउडर में मिलावट है.

दाल चीनी

दाल चीनी पेड़ की छाल होती है. हालांकि इसे भी अमरूद के पेड़ की छाल को काटकर नकली बनाया जा रहा है. अब यदि दालचीनी की पहचान करनी है तो दालचीनी के कुछ टुकड़े लेकर अपने हाथ पर रगड़कर देखें. अगर दालचीनी से लाल या भूरा रंग निकलता है तो समझ जायें कि ये असली दालचीनी है, क्योंकि नकली दूसरे पेड़ों की छाल काफी कठोर होती है.

काली मिर्च

काली मिर्च में पपीते के बीज मिलाकर बेचा जा रहा है. इस तरह मुनाफाखोर इससे भी मुनाफा कमा रहे हैं. इसकी जांच के लिए काली मिर्च को पानी या शराब में मिलाकर देख सकते हैं. पपीते के बीज (Papaya Seeds) हल्के होते हैं जो पानी में तैरते रहते हैं, लेकिन काली मिर्च (Clack Pepper) सीधा पानी में डूब जाता है.

जीरा

जीरा किसी भी व्यजंन में चार चांद लगा देता है. ऐसे में ये असली है या नहीं इसकी पहचान बहुत ही आसान है. इसके लिए आपको जीरा दो उंगलियों की बीच में रगड़कर देखना है. यदि जीरा मिलावटी है तो आपकी उंगलियां काली हो जाएंगी. यदि ये असली होगा तो आपकी उंगलियों को काला नहीं करेगा.

यह भी पढ़ें: हंसने से ठीक होगी मेंटल हेल्थ, जानें लाफिंग से कैसे होती है हीलिंग

यह भी पढ़ें: 40 की उम्र के बाद महिलाएं ऐसे रखें अपना ख्याल, हमेशा रहेंगी फिट एंड फैब

यह भी पढ़ें: 30 दिन पहले ही मिलने लगते हैं हार्ट अटैक के संकेत, देखें ये सात लक्षण, कहीं आप तो नही करते इग्नोर ?

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
506FansLike
50FollowersFollow
820SubscribersSubscribe

’30 लाख रुपये में बिका NEET पेपर…’, आ गया बड़ा कबूलनामा,...

नई दिल्ली/स्वराज टुडे: नीट पेपर लीक मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। आरोपियों ने पूछताछ के दौरान कबूल कर लिया है कि पेपर लीक...

Related News

- Advertisement -