शिक्षक हुआ साइबर ठगी का शिकार, खाते से 4 लाख 500 रुपए कर दिए पार

- Advertisement -

छत्तीसगढ़
जीपीएम/स्वराज टुडे: गौरेला में साईबर ठग ने शिक्षक के खाते से 4 लाख 500 रुपए उड़ा दिये। दरअसल साइबर ठगों ने खुद को आईसीआईसीआई बैंक का कर्मचारी बनकर क्रेडिट कार्ड की राशि का तुरंत भुगतान करने के लिए भेजे गए लिंक को डाउनलोड करवाकर शिक्षक के खाते से 4 लाख 500 रुपए पार कर दिए।

शिक्षक को खुद के ठगे जाने का अहसास होने पर थाने में शिकायत दर्ज कराई । मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने तत्काल पीड़ित की शिकायत पर अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ अपराध दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

जिले में पुलिस विभाग के द्वारा लगातार साईबर ठगों से बचने के लिए कार्य शाला का आयोजन किया जा रहा है तो दूसरी ओर इन साईबर ठगों के द्वारा ठगी को अंजाम भी दिया जा रहा है । हैरानी की बात यह है कि  इन ठगों के ठगी का शिकार पढ़े लिखे लोग ही हो रहे है। आज के युग में लोगों इंटरनेट,ऑनलाइन बैंकिंग जितनी बड़ी सुविधा लोगो को मिल रही है, उतनी ही तेजी से साइबर अपराध भी बढ़ रहे हैं। एक छोटा सा चूक और आपकी गाढ़ी कमाई खाते से गायब।

साइबर ठगों ने शिक्षक को ऐसे लगाया चूना

यह पूरा मामला उस दौरान हुआ जब पूरे छत्तीसगढ़ प्रदेश में ऑनलाइन माध्यम से एफएलएन का ट्रेनिंग शिक्षकों को कराया जा रहा है। वहीं 5 जून बुधवार को इस ट्रेनिंग के दौरान जीपीएम जिले के सुभाष चन्द्र कालोनी पुराना गौरेला निवासी एवं गौरेला ब्लाक के प्रायमरी स्कूल रंजकी में पदस्थ सहायक शिक्षक पीयूष विश्वकर्मा के मोबाइल नम्बर 9340228564 में मोबाईल नम्बर 6291274026 से व्हाट्सअप में मैसेज आया।

उस मैसेज में एक लिंक भेजा गया और उसके बाद लिंक भेजने वाले ने फोन पर बात करके शिक्षक पीयूष से कहा कि आपका आईसीआईसीआई बैंक से कर्ज है। उस कर्ज का किश्त आपके एसबीआई के खाते से कटकर जमा होता है। ठग ने कहा कि अब इंडसइंड बैंक आईसीआईसीआई बैंक से कनेक्ट हो गया है इसलिए क्रेडिट कार्ड के कर्ज का एक लाख रुपए का भुगतान आज ही जमा कराना आवश्यक है। इतना कहकर ठग ने पीयूष विश्वकर्मा को भेजा हुआ लिंक डाउनलोड करने को कहा।

चूंकि ठग के द्वारा फोन पर दी गई क्रेडिट कार्ड से सम्बन्धित सभी जानकारी सही थी, इसलिए पीयूष भी उस ठग की बातों में आ गया और उसने भेजे गए लिंक को डाउनलोड कर लिया । वहीं लिंक को डाउनलोड करते ही पीयूष का मोबाईल फोन हैक हो गया और सभी कॉल फॉरवर्ड होने लगे। उसके बाद ठग ने पीयूष के खाते से पहले 3 लाख रुपए ट्रान्सफर कर लिए।

उसके कुछ देर बाद वो 3 लाख रुपए खाता में वापस कर दिया गया। इसके कुछ देर बाद ठग ने पीयूष के खाते से 4 लाख 500 रूपये पंजाब नेशनल बैंक के खाता नंबर 0923001700062491 आईएमपीएस के माध्यम से ट्रांसफर करके पूरे ठगी के घटनाक्रम को अंजाम दे दिया।

जब पीयूष को खुद के साथ ठगी होने का अहसास हुआ तो वो गौरेला थाने पहुचकर अज्ञात ठग के खिलाफ ठगी का अपराध दर्ज कराया है । पीड़ित की शिकायत पर गौरेला पुलिस और साईबर सेल की टीम ठगी करने वाले के मोबाइल नंबर और जिस खाते में पैसों का ट्रांसफर हुआ सभी की पतासाजी करने में जुट गई है। वही मामले में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गौरेला पेण्ड्रा मरवाही ओम चंदेल का कहना है जैसे ही शिक्षक के खाते से ठगी की गई वो तत्काल साइबर सेल पहुचा जिसके बाद साईबर सेल की टीम तत्काल एक्टिव हो गई है सभी बिंदुओं पर जांच जारी है।

श्री चंदेल ने लोगों को पुनः सतर्क करते हुए कहा कि कोई भी अनजान लिंक अपने मोबाइल पर डाउनलोड ना करें अन्यथा आप साइबर ठगी के शिकार हो सकते हैं।

यह भी पढ़ें: राह चलती लड़कियों के हिप्स पर हाथ मारने वाला सलमान चढ़ा पुलिस के हत्थे, थाने में हुई इतनी खातिरदारी कि अपने पैरों पर चलना हुआ मुश्किल, देखें वीडियो

यह भी पढ़ें: 118 अतिथि शिक्षकों की होगी नियुक्ति, शिक्षा के स्तर में होगा सुधार, डीएमएफ से की जाएगी भर्ती, 12 हजार मिलेगा मानदेय

यह भी पढ़ें: यूपी के कांग्रेस मुख्यालय के बाहर 1 लाख खटाखट लेने की लगी लाइन, पहली बार पीएम मोदी ने दी ऐसी प्रतिक्रिया

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
506FansLike
50FollowersFollow
826SubscribersSubscribe

कोरबा लोकसभा से दूसरी बार निर्वाचित सांसद ने ली पद व...

नई दिल्ली/स्वराज टुडे: छत्तीसगढ़ राज्य के कोरबा लोकसभा क्षेत्र क्रमांक 04 से दूसरी बार निर्वाचित हुईं सांसद ज्योत्सना चरणदास महंत ने 22 जून को...

Related News

- Advertisement -