60 वर्षीय बुजुर्ग पिता और 33 वर्षीय इकलौते बेटे ने थामा एक दूसरे का हाथ, फिर लेट गए ट्रेन के सामने, दोनों की दर्दनाक मौत, पढ़िए दिल दहला देने वाली खबर

- Advertisement -

मुम्बई/स्वराज टुडे: इस दुनिया के सबसे मुश्किल कामों में से एक है किसी के मन को पढ़ पाना. कौन किस वक्त क्या सोच रहा है इस बात का अंदाजा नहीं लगाया जा सकता. ऐसे ही मुश्किल हो जाता है इस बात का आंकलन लगाना कि कब इंसान अपनी जान दे देगा.

खासतौर पर मानसिक अवसाद यानी डिप्रेशन से जूझने वालों के साथ ये समस्या बेहद आम है. शायद इसलिए कई बार आत्महत्या करने वालों के घरवालों को समझ ही नहीं आता कि उनके अपनों ने ऐसा कदम क्यों उठाया. ऐसा भी क्या था जो वह बता न सके.

इन दिनों सोशल मीडिया पर मुंबई के वसई का एक खौफनाक वीडियो वायरल हो रहा है. वीडियो में एक पिता-बेटा स्टेशन के प्लैटफॉर्म पर दिखाई दे रहे हैं. इसी बीच वह प्लैटफॉर्म के अंतिम छोर तक जाते हैं. तभी वहां सामने से एक ट्रेन फुल स्पीड में आ रही होती है. पिता और बेटा हाथ पकड़ते हैं और बिना कुछ सोचे-समझे तेजी से आती हुई ट्रेन के आगे लेट जाते हैं.

सीसीटीवी में कैद हुई घटना

ट्रेन दोनों के ऊपर से होकर गुजर जाती है. दोनों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई. हादसे का पूरा वीडियो स्टेशन पर लगे सीसीटीवी कैमरे पर रिकॉर्ड हो गया. मिली जानकारी के मुताबिक, वसई के रहने वाले 33 साल के जय मेहता और उनके पिता ने सोमवार सुबह भायंदर रेलवे स्टेशन के पास ट्रेन के सामने लेटकर आत्महत्या कर ली. वसई जीआरपी ने दुर्घटनावश मौत का मामला दर्ज कर घटना की जांच शुरू कर दी है. पुलिस ने बताया कि यह हादसा सुबह करीब 9.30 बजे हुआ था.

मां की कोरोना में हुई थी मौत

हैरानी की बात तो ये है कि पिता की जेब से पुलिस को एक सुसाइड नोट मिला जिसमें लिखा था कि वह दोनों अपनी मर्जी से ये कदम उठा रहे हैं और इसके लिए कोई भी जिम्मेदार नहीं है. जय की एक साल पहले ही शादी हुई थी. उसने अपनी गर्लफ्रेंड से शादी की थी. वहीं पिता की पत्नी और जय की मां की कोरोना महामारी के दौरान मौत हो गई थी. पुलिस के अनुसार दोनों ट्रेन नजदीक आते ही ट्रैक पर लेट गए. उन्हें लेटता देखकर ड्राइवर ने ट्रेन रोकने की बहुत कोशिश की, मगर वो नाकामयाब रहा. तेज रफ्तार के कारण ट्रेन दोनों पर चढ़ गई और मौके पर ही उनकी मौत हो गई. ससुर और पति कि मौत से महिला भी सदमें में है, हालांकि पुलिस मामले की छानबीन कर रही है.

यह भी पढ़ें: सर्पदंश से बचाव हेतु एडवाइजरी जारी, सभी स्वास्थ्य केंद्रों में सर्पदंश के इलाज हेतु एण्टीस्नेक वेनम पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध

यह भी पढ़ें: लेखपाल बनते ही पत्नी हो गयी बेवफा, कारपेंटर पति से कह दी ये बड़ी बात…

यह भी पढ़ें: मां बनने के बाद महिलाओं के सामने आने वाली पांच चुनौतियां

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
506FansLike
50FollowersFollow
850SubscribersSubscribe

मामूली विवाद पर हत्या की कोशिश, विधि से संघर्षरत सभी आरोपी...

छत्तीसगढ़ कोरबा-करतला/स्वराज टुडे: दिनांक 16 जुलाई 2824 की रात्रि लगभग 20 बजे थाना करतला क्षेत्र के ग्राम नोनबिर्रा का एक अव्यस्क बालक अपने भाइयों के...

Related News

- Advertisement -