सर्पदंश से मृत बालक को पुनर्जीवित करने का तांत्रिक सपेरे ने किया दावा…लेकिन दिनभर इंतजार के बाद भी नहीं आया तांत्रिक

- Advertisement -

उत्तर प्रदेश
कुण्डकी/स्वराज टुडे : मुरादाबाद जिले के कुंदरकी नगर अंतर्गत ऊंचाकानी गांव में सर्पदंश से मृत छात्र को जिंदा करने का दावा ठोकने वाला तांत्रिक सपेरे निर्धारित दिन गुज़रने के बाद नही पहुँचने से स्वजन भी हताशा से घिर गए। गांव में पूरे दिन असमंजस की स्थिति बरकरार रही। परिजन अलीगढ़ निवासी सपेरे को दूरभाष से संपर्क साधते रहे लेक़िन कोई सफलता नही मिली।

गौरतलब है कि गांव के बबलू ठाकुर के छोटे पुत्र किशोर वरूण को सोते वक्त कान पर ज़हरीले सांप ने काट लिया।  परिजन उपचार के लिए उसे रामपुर व मुरादाबाद अस्पताल ले गए लेक़िन यहाँ डाक्टर ने वरुण को मृत घोषित कर दिया। परिजन झाड़-फूंक के अंधविश्वास में फंस गए और बेज़ान छात्र को एक सपेरे ने तंत्रमंत्र प्रकिया का ढोंग रच कर घर के आंगन में ही दबा दिया। तांत्रिक सपेरे ने परिजनों को दिलासा दिया कि 19 नवंबर को पुलिस के साथ पहुंचकर दबाए छात्र को पुनर्जीवित करके बाहर निकाल देगा।

परिजन तांत्रिक बाबा का चमत्कार मानकर भरोसा जताने लगें और दस दिन तक प्रतीक्षा करने लगे। पुलिस के समझाने के बाद भी माता-पिता नही माने। प्रकरण ने तूल पकड़ा तो गांव में अन्य सपेरे भी पहुंचने लगे। खुफिया विभाग भी घटनाक्रम पर बराबर नजर बनाए रखने लगा।

परेशान होकर परिजनों ने भी घर के मुख्य दरवाजे पर पाबंदी लगा दी। रविवार को तय दिन के अनुसार ग्रामीण भी सपेरे को देखने व छात्र की झलक देखने पहुँच गए। ग्रामीणों ने बताया कि परिजनों ने दोपहर तक सपेरे का इंतजार किया लेकिन वक्त गुजारने के बाद परिजन सपेरे से दूरभाष के जरिए संपर्क साधते रहे परंतु उक्त तांत्रिक से कोई भी संवाद नही हो पाया।

दिनभर घर के नजदीक गांव के अलावा अन्य गांव के लोग भी पहुँच गए। लेकिन शाम तक तांत्रिक के नहीं पहुंचने से वे मायूस लौट गए। आशंका जताई जा रही है कि तांत्रिक के नहीं पहुंचने पर परिजन अब छात्र को यही दबा देंगें। लेक़िन परिजनो को भरोसा है तांत्रिक सपेरा घर बैठे मंत्र का जाप कर रहा है और जल्द ही गांव में पहुँचेगा।

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
506FansLike
50FollowersFollow
822SubscribersSubscribe

पहली बीवी के रहते दूसरी से किया निकाह.. फिर दो बच्चे...

उत्तरप्रदेश बरेली/स्वराज टुडे: देश में तीन तलाक पर कड़े कानून लागू कर दिए जाने के बावजूद तलाक देने के सिलसिले पर लगाम लगती नजर नहीं...

Related News

- Advertisement -