संवेदनशील कलेक्टर: न्यूरो संबंधी बीमारी से जूझ रहे बच्चे के इलाज के लिए स्वीकृत की एक लाख रुपए की राशि,बेहतर इलाज के लिए आगे भी सहयोग करेगा जिला प्रशासन

- Advertisement -

छत्तीसगढ़
कोरबा/स्वराज टुडे:कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने एक बार फिर संवेदनशीलता जाहिर करते हुए न्यूरो संबंधी बीमारी से जूझ रहे बच्चे के इलाज के लिए तात्कालिक सहायता प्रदान की है। कलेक्टर ने विकासखंड पोंडी उपरोड़ा के अंतर्गत ग्राम पंचायत कोनकोना के आश्रित ग्राम धौरामुडा निवासी नौ वर्षीय बालक बादल के इलाज के लिए डीएमएफ मद से एक लाख रुपए की राशि स्वीकृत की है। साथ ही बच्चे के बेहतर इलाज के लिए जिला प्रशासन द्वारा आगे भी सहयोग प्रदान किया जाएगा।

राशि स्वीकृत हो जाने से खराब आर्थिक स्थिति से गुजर रहे परिवार को बच्चे के इलाज में सहायता मिलेगी। बच्चे के परिजनों को बादल के बेहतर इलाज के लिए एम्स रायपुर या अन्य बड़े अस्पतालों के न्यूरो विभाग में इलाज कराने की परामर्श दी गई है।

उल्लेखनीय है कि ग्राम धौरामुड़ा निवासी श्री जयकुमार के नौ वर्षीय पुत्र बादल का तीन वर्ष पूर्व अज्ञात कारणों से तबीयत खराब हो गया था। प्रारंभिक इलाज कराने पर डॉक्टरो ने न्यूरो और रीढ़ की हड्डी से संबंधित समस्या बताई । बीमारी के कारण बालक बादल बिस्तर पर ही लेटे रहता है तथा बिना किसी सहारे बिस्तर से उठ नहीं पाता है। परिजनों ने कोरबा और अन्य शहरों के अस्पतालों में बालक का इलाज कराया, फिर भी बालक ठीक नहीं हो पाया। बालक के पिता श्री जयकुमार ने बताया कि बादल के इलाज में बहुत सारे पैसे खर्च हो चुके हैं। घर की आर्थिक स्थिति भी कमजोर हो गई है। गंभीर बीमारी से जूझ रहे बच्चे के बारे में जानकारी प्राप्त होते ही कलेक्टर श्रीमती साहू ने संवेदनशीलता से इलाज के लिए हाथ आगे बढ़ाया। कलेक्टर ने बच्चे के इलाज प्रशासन के सहयोग से करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। इसके फलस्वरूप जिला खनिज संस्थान न्यास से तात्कालिक रूप से एक लाख रुपए की राशि स्वीकृत की गई है।

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
504FansLike
50FollowersFollow
804SubscribersSubscribe

मोदी की गलत नीतियों के कारण चुनाव बहिष्कार की नौबत, अन्याय...

छत्तीसगढ़ कोरबा/स्वराज टुडे: संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत एसईसीएल की कुसमुंडा परियोजना से प्रभावित ग्राम पाली, पड़निया, सोनपुरी, खैरभवना, जटराज चंद्रनगर, रिस्दी, खोडरी, चुरैल व अमगांव...

Related News

- Advertisement -