शास.इं.वि. स्नातकोत्तर महाविद्यालय कोरबा में “मानसिक स्वास्थ्य एवं कल्याण” विषय पर राष्ट्रीय सेमिनार का शुभारंभ

- Advertisement -

छत्तीसगढ़
कोरबा/स्वराज टुडे:शासकीय इ.वि. स्नातकोत्तर महाविद्यालय कोरबा छ.ग. में साइकोलाजिकल फोरम छत्तीसगढ़ एवं मनोविज्ञान विभाग शासकीय इ.वि. स्नातकोत्तर महाविद्यालय कोरबा के संयुक्त तत्वाधान में 02 एवं 03 जुलाई 2022 “मानसिक स्वास्थ्य एवं कल्याण” विषय पर आयोजित राष्ट्रीय सेमिनार के प्रथम दिवस 02 जुलाई 2022 को मुख्य अतिथि के रूप में अपर संचालक डॉ. एस. आर. कमलेश, उच्च शिक्षा विभाग क्षेत्रीय कार्यालय बिलासपुर तथा मनोविज्ञान फोरम छ.ग. के अध्यक्ष डॉ. बसंत कुमार सोनबेर, सचिव डॉ. जय सिंह एवं मुख्य वक्ता के रूप में डॉ. प्रियंबदा श्रीवास्तव विभागाध्यक्ष मनोविज्ञान पं. रविशंकर शुक्ल वि.वि. रायपुर उपस्थित थे।

कार्यक्रम का आरंभ माँ सरस्वती एवं छत्तीसगढी महतारी के तैल चित्र पर माल्यापर्ण एवं दीप प्रज्जवलित कर किया गया। मन समस्त दुख एवं सुख का कारण है कहाँ जाता है कि स्वस्थ्य शरीर में स्वस्थ्य मन का निवास होता है। इस भावना को ध्यान में रखकर इस सेमीनार का आयोजन किया गया। डॉ. एस. आर. कमलेश ने कहा कि जो स्वस्थ है वही सुन्दर है। महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. आर. के. सक्सेना ने अपने उद्बोधन में बताया कि यह कार्यक्रम सही समय पर किया जा रहा है। किसी भी कार्यक्रम का सही समय में होना उसकी महत्ता को और बढ़ाता है। किसी भी व्यक्ति के लिए शारीरिक एवं मानसिक रूप से स्वस्थ रहना अतिआवश्यक है। कोविड-19 की विभिषिका ने सब को शारीरिक एवं मानसिक रूप से प्रभावित किया है। इससे निजात पाने के लिए यह कार्यक्रम अत्यंत उपयोगी साबित होगा। डॉ. बसंत कुमार सोनबर ने अपने उद्बोधन में मनोविज्ञान फोरम छत्तीसगढ़ का परिचय प्रस्तुत किया एवं फोरम द्वारा किये जाने वाले सेवाओं की जानकारी दी।

मुख्य वक्ता डॉ. प्रियंवदा श्रीवास्तव ने कहा कि हमें अपने आप को इस प्रकार बनाना है कि प्रत्येक परिस्थितयों में अपने आप को समायोजित कर पाये। यदि समायोजित नहीं कर पाते है तो हम मानसिक अस्वस्थ्य हो जाते हैं। हम शारीरिक रूप से स्वस्थ्य है लेकिन आवश्यक नहीं है की हम मानसिक रूप से भी स्वस्थ हो। डॉ. प्रियंवदा श्रीवास्तव के द्वारा लॉ ऑफ च्वाईस, इजी गोइंग, फ्लेक्सिबल अटेंशन, बैंक अकाउंट, लॉ आफ लैस और कम्यूनिकेशन की विस्तृत जानकारी दी। डॉ. दिनेश श्रीवास, नमीता केवट, डॉ. संजय कुमार यादव, संजय कुमार कुर्रे, शिमी विनिस राजेन्द्र कुमार प्रजापति, प्रियका वर्मा, कविता कन्नौजे डॉ. अवन्तिका कौशिल ने शोध पत्र प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का संचालन डॉ. दिनेश श्रीवास और अतिथियों का आभार प्रदर्शन डॉ. अवन्तिका कौशिल ने किया।

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
504FansLike
50FollowersFollow
814SubscribersSubscribe

प्रेम प्रसंग का व‍िरोध करने पर नाबालिग बेटी ने खेला खूनी...

उत्तरप्रदेश कन्नौज/स्वराज टुडे: कन्नौज जिले की छिबरामऊ कोतवाली क्षेत्र के करमुल्लापुर गांव में दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई। प्रेम-प्रसंग में बाधा बनने पर...

Related News

- Advertisement -