विलक्षण प्रतिभा की धनी हैं राजपूत घराने की धाकड़ गर्ल माया सिंह

- Advertisement -

मुम्बई/स्वराज टुडे: हर इंसान की अपनी आशाऐं और सपने होते हैं। अपने सपने को साकार करने हेतु वो मंजिल की ओर बढ़ता है, मंजिल तक आसानी से पहुंचना इतना सरल नहीं, कोई हार कर लौट जाता है और कोई अपनी लगन का पक्का बन कर लगा ही रहता है और अपनी कामयाबी पा ही लेता है। भले रास्ते अलग हो पर वो हार नहीं मानता जैसे चींटी बार बार गिर कर भी पहाड़ तक एक दिन पहुंच ही जाती है। अपने काम के लिए ऐसे ही जुनूनी फितरत लिए एक बिंदास खूबसूरत लड़की है जो हर तूफान और चुनौती से लड़कर अपना मुकाम बना चुकी है।

उदयपुर से एक संस्कारी और राजपूत घराने की धाकड़ गर्ल माया सिंह, बेहद मेहनती और काम के प्रति पूर्ण निष्ठा रखती है। उन्होंने अपने चुनौती को ही अपना काम बना लिया। माया पेशे से फैशन फोटोग्राफर है। वर्तमान समय में बॉलीवुड और फैशन की दुनिया में इनकी फोटोग्राफी कमाल की है। वर्तमान समय में लड़कियां हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं मॉडलिंग या अभिनय की दुनिया में कदम रखना तो सबका सपना रहता है लेकिन एक लड़की फोटोग्राफी या निर्देशन की बागडोर संभाले यह उसकी रचनात्मकता और निर्भयता को दर्शाता है।

फैशन फोटोग्राफर माया सिंह की फोटोग्राफर बनने के पीछे भी एक रोमांचक कहानी है यह कहानी उनके स्वाभिमान, आत्मिक साहस और जुनून को बताती है। माया भी मुम्बई अभिनय और गायन की दुनिया में अपना मुकाम बनाने आयी थी, किंतु जल्द ही फ़िल्म इंडस्ट्री की सच्चाई से वह अवगत हो गयी। माया को अपना आत्मसम्मान बहुत प्रिय है वे एक बेबाक, बिंदास और संस्कारी इंसान है। उन्हें इंडस्ट्री की कुछ चीज़ें सही नहीं लगी। उसी दौर में इनके एक निजी मित्र फोटोग्राफी का काम करते थे। उनका काम देख इन्होंने आग्रह किया कि वह भी कैमरे से कुछ चित्र लेना चाहती है, इस पर उनके मित्र ने व्यंग कसा कि यह काम लड़कियों के बस की बात नहीं, उनकी यह बात माया को अच्छी नहीं लगी। माया ने ठान लिया और उसी कैमरे से पिक्चर निकाल कर अपने मित्र को दिखाई। पिक्चर देख उनका मित्र भी उनकी क्रिएटिविटी से प्रभावित हो गया, बस उसी दिन से माया ने अपनी क्रिएटिविटी से फोटोग्राफी की दुनिया में अपना मुकाम हासिल कर लिया। वे बेहद जुनून और निष्ठा से अपना काम करती है। फोटोग्राफी की इन्होंने विशेष शिक्षा नहीं ली लेकिन अपने अनुभवों से इस काम में महारत हासिल कर ली है। ग्यारह वर्षों से लगातार वह यह काम कर रही है।

सनी लियोनी, अमृता राव, गौहर खान, जरीन खान, शिल्पा शिंदे, इंद्र कुमार, सना खान, पर्ल वी पूरी, अदा शर्मा ना जाने कितने मॉडलिंग, फ़िल्म और टीवी जगत के कलाकारों को वह अपने कैमरे पर उतार चुकी हैं।
फोटोग्राफर का काम लीग से हटकर किया गया काम है लेकिन इसमें भी माया सिंह ने जीत हासिल की है। वे मॉडल को स्वयं बताती है कि किस एंगल में, किस पोज, किस दिशा या कैसे मेकअप में उन्हें रहना है। फोटोग्राफी से जुड़ी हर बारीकियों को जानती भी हैं और न्यू फोटोग्राफर को सिखाती भी है।

माया का अपनी माँ से विशेष लगाव है वह अपनी जिंदगी का आइडल अपनी माँ को मानती है। बेशक सब की तरह उनकी जिंदगी में भी उतार चढ़ाव आये पर उन्होंने हार नहीं मानी। उनके इस काम के लिए उन्हें कई अवार्ड द्वारा सम्मानित किया जा चुका है जैसे दो बार दादा साहेब फाल्के नारी शक्ति पुरस्कार मिल चुका है। आज तक, ज़ूम आदि कई बड़े चैनलों पर इनका साक्षात्कार भी आ चुका है। अपनी रचनात्मकता को बढ़ाने के लिए वो जल्द ही निर्देशन के क्षेत्र में आ रही है।
माया सिंह दिखने में आकर्षण व्यक्तित्व की है गायन, नृत्य, कुकिंग के साथ साथ कई क्रिएटिविटी में माहिर है जो जल्द ही लोगों को देखने को भी मिलेगी।
माया का कहना है कि कभी हार नहीं मानना चाहिए खास कर महिलाओं को। महिलाएं हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं और बढ़ेंगी भी। एक नारी कामगार महिला, गृहणी और माँ की जिम्मेदारी को बेहतर तरीके से निभाती है। घर के साथ बाहरी दुनिया में भी अपना ऊंचा मुकाम हासिल कर सकती है इसके लिए उसे कभी झुकने की आवश्यकता नहीं। अगर नारी ठान ले तो वो कुछ भी कर सकती है। उसे आत्मनिर्भर बनना है दूसरों पर निर्भर नहीं। नारी को लक्ष्मी बाई बनना है दूसरों से नहीं पहले अपने डर से लड़ना है। क्योंकि नारी ही जननी है नारी ही शक्ति है, नारी ही जिंदगी है।

*गायत्री साहू की रिपोर्ट*

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
504FansLike
50FollowersFollow
804SubscribersSubscribe

मोदी की गलत नीतियों के कारण चुनाव बहिष्कार की नौबत, अन्याय...

छत्तीसगढ़ कोरबा/स्वराज टुडे: संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत एसईसीएल की कुसमुंडा परियोजना से प्रभावित ग्राम पाली, पड़निया, सोनपुरी, खैरभवना, जटराज चंद्रनगर, रिस्दी, खोडरी, चुरैल व अमगांव...

Related News

- Advertisement -