विदेश में नौकरी का झांसा देकर कैसे साइबर फ्रॉड के धंधे में धकेलता था बॉबी कटारिया ? पीड़ितों ने बताई आपबीती

- Advertisement -

हरियाँ
लखनऊ/स्वराज टुडे: यूट्यूबर (YouTuber) बलवंत उर्फ बॉबी कटारिया (Bobby Kataria Arrest) को कबूतरबाजी (लोगों को नौकरी का झांसा देकर अवैध तरीके से विदेश भेजने का धंधा) के मामले में हरियाणा पुलिस ने गिरफ्तार किया है.
उस पर उत्तर प्रदेश के दो युवकों से नौकरी के नाम पर लाखों रुपये ऐंठने, विदेश भेजने और वहां बंधक बनाकर चाइनीज कंपनी में ले जाने का आरोप है. दोनों पीड़ितों का कहना है कि उन्हें बंधक बनाकर अमेलरिकी लोगों के साथ साइबर फ्रॉड करने को मजबूर किया गया. पुलिस ने बॉबी कटारिया को मंगलवार को कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे 3 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा गया है. रिपोर्ट के मुताबिक, बॉबी कटारिया का सिंडिकेट भारत के अलावा थाइलैंड, वियतनाम और कंबोडिया तक फैला है.

अब तक सिंडिकेट से जुड़े 5 लोग गिरफ्तार

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) के मुताबिक, इस सिंडिकेट से जुड़े 5 लोग गिरफ्तार हुए हैं. पीड़ित युवकों का आरोप है कि जिस कंपनी में उन्हें बंधक बनाया गया, वहां करीब 150 भारतीय इसी तरह मानव तस्करी कर लाए गए थे. उनमें महिलाएं भी शामिल हैं, जिन्हें बॉबी कटारिया जैसे अन्य लोगों ने नौकरी का झांसा देकर भेजा. इन लोगों से मारपीट की गई और पासपोर्ट छीन लिए गए. फिर साइबर फ्रॉड के लिए मजबूर किया गया.

इंस्टाग्राम पर हुआ था कॉन्टैक्ट

यूपी के फतेहपुर के रहने वाले अरुण कुमार और हापुड़ के रहने वाले मनीष तोमर ने गुरुग्राम पुलिस को बॉबी कटारिया के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. उन्होंने बताया, “हम दोनों बेरोजगार थे. हमने इंस्टाग्राम पर बॉबी कटारिया के पेज Bobbykataria-official और यू-ट्यूब चैनल MBK के साथ (@Bobbykatariaofficial24) पर विदेश मे नौकरी दिलाने का एड देखा. इस दौरान हम उसके संपर्क में आए.”

अरुण कुमार और मनीष तोमर ने कहा, “विज्ञापन देखकर बॉबी कटारिया से उसके मोबाइल नंबर पर पर कॉल किया. वॉट्सऐप पर भी बात हुई. उसने बताया कि वो विदेश में नौकरी दिलवाता है. गुरुग्राम के सेक्टर 109 कॉन्सेंट वन मॉल में उसका ऑफिस है. वहां जाकर मीटिंग हो सकती है.”

UAE में जॉब का झांसा देकर ऐंठे पैसे

अरुण कुमार बताते हैं, “बॉबी कटारिया को हमने सोशल मीडिया पर कई बार देखा था. इसलिए एक भरोसा सा हो गया. 1 फरवरी 2024 को मैं उसके ऑफिस मिलने गया. उसने मुझे UAE में जॉब दिलाने का भरोसा दिया. 2000 रुपये देकर रजिस्ट्रेशन कराने को कहा गया. मैंने रजिस्ट्रेशन करवा लिया. इसके बाद मैंने बॉबी कटारिया के कहने पर 13 फरवरी 2024 को अपने अकाउंट से उसके ऑफिस के अकाउंट MBK GLOBAL VISA PVT LTD में 50000 रुपये ट्रांसफर करा दिए. 14 मार्च 2024 को कटारिया के कहने पर अंकित शौकिन नाम के शख्स के अकाउंट में एक लाख रुपये और ट्रांसफर कराए. फिर कटारिया ने अपने एजेंट शौकिन के वॉट्सऐप से वैन्टाइन (LAOS) की टिकट भिजवाई. 28 मार्च 2024 को मैं बॉबी कटारिया के कहे मुताबिक एयरपोर्ट पर 50000 रुपये अमेरिकी डॉलर में ट्रांसफर कराकर वैन्टाइन की फ्लाइट मे बैठ गया.

अरुण कुमार ने कहा, “इसी तरह मेरा दोस्त मनीष तोमर 10 जनवरी 2024 को बॉबी कटारिया से उसके ऑफिस में मिला. कटारिया ने उले सिंगापुर मे नौकरी दिलाने का झांसा दिया. 2000 रुपये से रजिस्ट्रेशन भी करवाया. बॉबी कटारिया के कहे अनुसार मनीष तोमर ने अलग-अलग तारीखों पर 2 लाख से ज्यादा रुपये उसके अकाउंट में ट्रांसफर करवा दिए. मनीष तोमर की 28 मार्च 2024 को वैन्टाइन (LAOS) की टिकट करवा दी गई. वो भी 50000 रुपये USD में बदलकर फ्लाइट में बैठ गया.”
अरुण कुमार और मनीष तोमर बताते हैं, “जब हम एयरपोर्ट पर उतरे, तो वहां हमें अभी नाम का एक युवक मिला. उसने खुद को बॉबी कटारिया का दोस्त और पाकिस्तानी एजेंट बताया. उसने हमें होटल माइकन सन में छोड़ दिया. दूसरे दिन अभी ने हमें नावतुई ट्रेन की टिकट कराकर ट्रेन में बैठा दिया.”

साइबर फ्रॉड करने को किया गया मजबूर

अरुण कुमार बताते हैं, “नावतुई स्टेशन से अभी ने टैक्सी करवाई और उन्हें गोल्डन ट्रैंगल छुड़वा दिया. वहां अंकित शौकिन और नीतीश शर्मा उर्फ रॉकी नाम के दो युवक मिले. वे उन्हें बेनामी चाइनीज कंपनी में ले गए. वहां दोनों दोस्तों के साथ जमकर मारपीट की गई और उनके पासपोर्ट छीन लिए गए. उन्हें अमेरिकन लोगों के साथ साइबर फ्रॉड करने को मजबूर किया गया.”

150 भारतीयों का बनाया गया बंधक

मनीष तोमर बताते हैं, “वहां पर हमें पता चला कि उस कंपनी में करीब 150 भारतीय इसी तरह मानव तस्करी करके लाए गए थे. उन्हें वहां बंधक बनाकर रखा गया था. इसमें महिलाए भी शामिल हैं. दो दिन तक हमने उनके कहे मुताबिक काम किया. तीसरे दिन मौका देखकर हम दोनों वहां से भागकर गए और इंडियन एंबेसी पहुंचे.”

अरुण कुमार ने कहा, “बॉबी कटारिया जैसे दलाल बेरोजगार व्यक्तियों को विदेश मे नौकरी दिलाने का झांसा देकर मानव तस्करी कर रहे है. आरोपियों के खिलाफ लीगल एक्शन लिया जाए.” मनीष तोमर कहते हैं, “वहां बंधक बनाए गए भारतीयों को जल्द से जल्द वापस लाया जाए. हमारे पैसे वापिस दिलाए जाए. हमने यहां पहुंचकर बॉबी कटारिया को फोन करके अपने पैसे वापस मांगे, तो वो अकड़ गया. उसने बताया कि इसी तरह पैसे लेता है.”

ये आरोपी भी अरेस्ट

इस मामले में NIA और अलग-अलग राज्यों की पुलिस ने बड़ोदरा से मनीष हिंगू, गोपालगंज से प्रह्लाद सिंह, दिल्ली से नबीआलम रे, गुरुग्राम से बलवंत कटारिया उर्फ बॉबी कटारिया और चंडीगढ़ से सरताज सिंह को गिरफ्तार किया है. इसके अलावा बड़ी मात्रा में विदेश भेजने के दस्तावेज, डिजिटल डिवाइस और रजिस्टर बरामद हुए हैं.

फर्जी कॉल सेंटरों में काम करने को किया जाता था मजबूर

रिपोर्ट के मुताबिक, ह्यूमन ट्रैफिकिंग के लेकर अलग-अलग राज्यों की पुलिस ने 8 FIR दर्ज की थी. आरोपी एक संगठित गिरोह बनाकर युवाओं को नौकरी का लालच देकर विदेश भेजते थे. युवाओं को लाओस, गोल्डन ट्राइंगल SEZ और कंबोडिया में फर्जी कॉल सेंटरों में काम करने के लिए दबाब बनाया जाता था. ये कॉल सेंटर विदेशी नागरिक चला रहे थे. इन कॉल सेंटरों के जरिए क्रेडिट कार्ड फ्रॉड, क्रिप्टो करेंसी में इंवेस्ट के नाम पर ठगी और हनी ट्रैप जैसी अवैध गतिविधियां हो रही थी.

जांच में पता चला की ये सिंडिकेट कई देशों तक फैला हुआ है, जहां विदेशी एजेंट थाइलैंड, कंबोडिया और वियतनाम से बॉर्डर क्रॉस करवाकर लाओस SEZ के लिए भेजते थे. भारत में ये रैकेट महाराष्ट्र, पंजाब, दिल्ली, हरियाणा, गुजरात, यूपी और बिहार जैसे कई राज्यों में फैला हुआ था.

कौन है बॉबी कटारिया?

हरियाणा के गुरुग्राम में बसई गांव का रहने वाला बॉबी कटारिया एक संपन्न परिवार से ताल्लुक रखता है. बॉडी बिल्डिंग का उसे शुरू से शौक था. वो अक्सर जिम में वर्कआउट करते हुए वीडियो अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर अपलोड करता रहता है. अपने वीडियो में वो लोगों को फिटनेस और न्यूट्रिशन से जुड़े टिप्स भी देता है. सोशल मीडिया पर उसकी फैन फॉलोइंग तगड़ी है. बॉबी कटारिया के इंस्टाग्राम पर ही 3 लाख से ज्यादा फॉलोअर्स हैं.

सड़क पर शराब और प्लेन में सिगरेट पीने का वीडियो हो चुका वायरल

कटारिया का विवादों से पुराना नाता रहा है. सितंबर 2022 में उसका देहरादून में सड़क पर ही टेबल कुर्सी लगाकर शराब पीने का वीडियो वायरल हुआ था. फिर दिसंबर 2022 में दिल्ली में प्लेन के अंदर सिगरेट पीने का वीडियो वायरल हुआ था. दोनों ही मामलों में उसे गिरफ्तार किया गया था. बाद में जमानत मिल गई थी.

यह भी पढ़ें: यूपी में BJP की इस एक गलती से बिगड़ सकता है पूरा खेल…C-Voter के फाउंडर का चौंकाने वाला दावा

यह भी पढ़ें: 40 लाख करोड़ का पड़ेगा राहुल गांधी का गरीब महिलाओं को प्रतिवर्ष 1 लाख रु देने का वादा! इतनी तो देश की कमाई भी नयहीं !

यह भी पढ़ें: अगर दुबले पतले शरीर से होती है शर्मिंदगी, तो वजन बढ़ाने के लिए सुबह खाली पेट खाएं ये 3 चीजें और देखें असर

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
506FansLike
50FollowersFollow
823SubscribersSubscribe

52 साल के रिक्शा वाले की 3000 गर्लफ्रेंड्स, पढ़िए हैरान कर...

उत्तरप्रदेश बरेली/स्वराज टुडे: सोशल मीडिया के दौर में इंसान ऑनलाइन जितना सोशल होता जा रहा है, उतना ही झूठा भी. वो अपनी असल जिंदगी को...

Related News

- Advertisement -