लेखपाल की नियुक्ति के 5 घंटे बाद ही DM ने जारी कर दिए बर्खास्तगी के आदेश, वजह जान आप भी पकड़ लेंगे अपना माथा

- Advertisement -

उत्तरप्रदेश
बदायूँ/स्वराज टुडे: पद हासिल करना एक बात होती है और पद पर बरकरार रहते हुए उसकी गरिमा बनाए रखना एक बात है. आपकी काबिलियत आपको पद तो दिलवा सकती है, लेकिन उसको बरकरार रखना आपकी ही जिम्मेदारी होती है. कई बार ऐसा होता है कि एक छोटी सी नादानी या एक पल का गुस्सा जिंदगी भर के भुगतान का कारण बन जाता है. ऐसा ही एक मामला यूपी के बदांयू से सामने आया है.

यूपी के बदायूं जिले में एक लेखपाल को ज्वाइनिंग लेटर मिले अभी 5 घंटे भी नहीं हुए थे कि डीएम ने उनकी बर्खास्तगी का नोटिस जारी कर दिया. डीएम और मंत्री की मौजूदगी में चल रही मीटिंग के दौरान नए नवेले लेखपाल ने कुछ ऐसा कर दिया जो उनकी नौकरी के लिए मुसीबत बन गया और डीएम ने लेखपाल से स्पीष्टीकरण मांगते हुए सेवा समाप्ति का नोटिस जारी कर दिया.

बांटे जा रहे थे नियुक्ति पत्र

दरअसल, कलेक्ट्रेट परिसर के अटल सभागार में लेखपालों को ज्वाइनिंग लेटर देने के लिए कार्यक्रम रखा गया था. इसमें केंद्रीय मंद्री बीएल वर्मा समेत सदर विधायक और जिलाधिकारी मनोज कुमार मौजूद थे. नवनियुक्त 110 लेखपालों को नियुक्ति पत्र दिया गया था. इसमें महेंद्र भी शामिल थे, जिनकी तैनाती सदर तहसील के रियोनइया क्षेत्र में हुई थी. लेकिन डीएम और मंत्री के नाश्ता करने के दौरान अचानक महेंद्र उनके पास पहुंच गए और उनपर पक्षपात का आरोप लगाते हुए कह दिया, ” हमारा नास्ता कहाँ है ?”

नाश्ते को लेकर अड़ गए लेखपाल

नए नवेले लेखपाल ने कहा कि आप लोग नाश्ता कर रहे हैं, लेकिन लेखपालों के लिए आपने कुछ नहीं मंगवाया. डीएम को लेखपाल साहब का ये तल्ख रवैया रास नहीं आया. उन्होंने कहा कि आप सीट पर जाकर बाकी लेखपालों के साथ बैठिए आपको नाश्ता वहीं दे दिया जाएगा. लेकिन लेखपाल साहब कहा मानने वाले थे. डीएम के कहने के बावजूद भी जनाब वहीं खड़े रहे. बस फिर क्या था केंद्रीय मंत्री के जाने के बाद डीएम ने सदर एसडीएम को नवनियुक्त लेखपाल से स्पष्टीकरण मांगने और संतोषजनक जवाब न मिलने पर बर्खास्त करने के निर्देश दिए. जानकारी के मुताबिक एसडीएम की ओर से नोटिस भी जारी किया जा चुका है. एसडीएम के नोटिस में लेखपाल से दो दिनों में जवाब मांग गया है, साथ ही कहा गया है कि ऐसा न करने पर सेवा समाप्ति को लेकर विचार किया जाएगा.

यह भी पढ़ें: लेखपाल बनते ही पत्नी हो गयी बेवफा, कारपेंटर पति से कह दी ये बड़ी बात…

यह भी पढ़ें: मंडप पर बैठे दूल्हे को आया WhatsApp पर मैसेज, तुरंत तोड़ दी शादी, कारण जानकर उड़ गए सबके होश

यह भी पढ़ें: 60 वर्षीय बुजुर्ग पिता और 33 वर्षीय इकलौते बेटे ने थामा एक दूसरे का हाथ, फिर लेट गए ट्रेन के सामने, दोनों की दर्दनाक मौत, पढ़िए दिल दहला देने वाली खबर

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
506FansLike
50FollowersFollow
850SubscribersSubscribe

मामूली विवाद पर हत्या की कोशिश, विधि से संघर्षरत सभी आरोपी...

छत्तीसगढ़ कोरबा-करतला/स्वराज टुडे: दिनांक 16 जुलाई 2824 की रात्रि लगभग 20 बजे थाना करतला क्षेत्र के ग्राम नोनबिर्रा का एक अव्यस्क बालक अपने भाइयों के...

Related News

- Advertisement -