भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा कोटेतरा का सामुदायिक भवन, लाखों की हो गई बंदरबांट लेकिन 2 साल में भी नहीं बन पाया भवन

- Advertisement -

छत्तीसगढ़
जांजगीर-चाम्पा/स्वराज टुडे: जैजैपुर ब्लाक के कोटेतरा ग्राम पंचायत में सामुदायिक भवन का निर्माण कार्य अब तक अधूरा है। 2019-20 में शुरू हुए निर्माण कार्य को लेंटर करने के बाद रोक दिया गया। अभी भी प्लास्टर के साथ ही दरवाजा लगाने का काम नहीं हो सका है। जिले के जैजैपुर विकासखंड के अंतर्गत ग्राम पंचायत कोटेतरा में बाजार पारा पर बन रहा सामुदायिक भवन दो सालों में भी पूरा नहीं हो सका है।

कलेक्टर के आदेश की भी उड़ाई जा रही धज्जियां

खास बात यह है कि इस भवन के निर्माण पर अभी तक खर्च हुई राशि 4 लाख रुपये आहरण सरपंच श्रीमती भगवती गोंड के द्वारा कर लिए गए है। ग्रामीणों से प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत कोटेतरा को इस सामुदायिक भवन निर्माण के लिए वर्ष 2019- 2020 में 5लाख रुपये की स्वीकृति मिली थी। उस राशि में से 4 लाख रुपये के आसपास का ही आहरण सरपंच द्वारा किया गया है।

अभी कलेक्टर का आदेश भी आया था कि पुराने निर्माण कार्यो को 31 मार्च तक पूरा करना है। लेकिन जनपद सीईओ एवं एसडीओ और इंजीनियर द्वारा कोई नोटिस तक जारी नही किया गया है इससे ऐसा प्रतीक होता है कि सभी अधिकारी कर्मचारियों की मिलीभगत से निर्माण कार्य पूर्ण होने की राह ताक रहे है।

अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों की ठेकेदारों से मिलीभगत

कोटेतरा के ग्रामीणों का कहना है कि ग्राम पंचायत में जब तक अधिकारी एवं जनप्रतिनिधियों द्वारा पनाह देते रहेंगे तो विकास कार्य अधर में लटका रहेगा और तब तक पंचायत स्तर के कामों का हाल कुछ ऐसा ही होगा। सरपंच के द्वारा कराए गए काम अधूरे पड़े हैं। ग्रामीण इन सामुदायिक भवनों का उपयोग शादी विवाह सहित अन्य सामुदायिक कार्यक्रमों के आयोजन में करते, मगर निर्माण कार्य अधूरा होने से यह निर्माण का मकसद पूरा नहीं हो सका। गांव के ग्रामीणों ने बताया कि कई बार ग्राम पंचायत सरपंच, सचिव एवं जनप्रतिनिधियों व ब्लाक स्तर के अधिकारियों से इसे पूरा कराने के लिए कहा गया है, परंतु अभी तक किसी ने इसे पूरा कराने की पहल नहीं की।

सरपंच से रिकवरी आदेश निकालने की जरूरत

इस संबंध में सब इंजीनियर आरइएस धनंजय चन्द्रा ने बताया कि निर्माण कार्य पूरा होगा। मेरे द्वारा जितना भी मूल्यांकन किया था उससे कम राशि को खर्चा किया गया है। अधिकारियों के द्वारा ग्राम पंचायत कोटेतरा के सचिव, पूर्व सरपंच के नाम से रिकवरी आदेश निकालने की जरूरत हैं।

जनप्रतिनिधियों के द्वारा सचिव को फर्जी राशि निकालने की धमकी का आरोप

आपको बता दे कि ग्राम पंचायत कोटेतरा में विभिन्न निर्माण कार्यो की राशि सरपंच द्वारा आहरण कर लिया गया है और एक भी निर्माण कार्यो को पूरा नही किया है और कथाकथित जिला पंचायत सदस्य की पति सचिव को फोन कर फर्जी राशि आहरण करने के लिए सचिव को दबाव बनाने का प्रकाश मामला में आया है यहां तो शासकीय राशि का दुरुपयोग सरपंच की कर्ज चुकाने की बात सामने आया है ऐसे जनप्रतिनिधियों का सचिव को दबाव बनाना समझ से परे हुए है।

रनिंग वाटर निर्माण में फर्जी भुगतान का आरोप

आपको बता दे कि ग्राम पंचायत के स्कूलों में रनिंग वाटर का निर्माण कार्य हुआ है लेकिन जितने स्कूल है उन सभी मे रंनिग वाटर का कार्य नही हुआ है और सब इंजीनियर ने सभी स्कूलों का मूल्यांकन कर शासन से राशि प्राप्त कर लिए है लगातार पीएचई अधिकारी को अवगत कराने के बाद भी जांच नही किया गया और निर्माण कार्यो की राशि भुगतान कर लिया गया है अगर शासन प्रशासन जिम्मेदारी पूर्वक ग्राम पंचायत में किये गए कार्यो का भौतिक सत्यापन करने की जरूरत है फिर दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा।

जनपद पंचायत जैजैपुर के मुख्य कार्यपालन अधिकारी बी एस राजपूत ने कहा कि सामुदायिक भवन निर्माण के अधूरे कार्यो की जानकारी लेकर कार्यवाही की जाएगी और जो भी अधूरे कार्यो का मूल्यांकन करके राशि प्राप्त कर लिए है तो जांच टीम गठित कर उन पर भी उचित कार्यवाही की जाएगी।

*पर्सन राठौर की रिपोर्ट*

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
504FansLike
50FollowersFollow
813SubscribersSubscribe

जयमाला के दौरान दूल्हे ने दुल्हन के साथ कर दी गंदी...

उत्तरप्रदेश हापुड़/स्वराज टुडे: उत्तर प्रदेश के हापुड़ में एक दूल्हे को उसकी हरकत बहुत महंगी पड़ गई. दरअसल जयमाला के दौरान स्टेज पर ही दूल्हे...

Related News

- Advertisement -