बुरी तरह क्षतिग्रस्त चेहरे का जिला अस्पताल में पहली बार सफल ऑपरेशन, सर्जन डॉ कामिनी डडसेना ने कर दिया कमाल

- Advertisement -

छत्तीसगढ़
दुर्ग/स्वराज टुडे: दुर्ग जिले के जिला अस्पताल में ग्राम मनियारी निवासी 18 वर्षीय युवक केशव जिसकी सड़क दुर्घटना में चेहरे की सारी हड्डियां टूट गई थी उसका सफल ऑपरेशन किया गया l

दुर्घटना की वजह से जबड़ा बन्द नहीं हो रहा था और मरीज को खाने पीने और मुँह खोलने मे भी परेशानी हो रही थी। चेहरे को तीन भागों में बाँटा जाता है और जब तीनों भागों की हड्डी टूटी हो तो इसे पैनफेशियल फ्रेक्चर कहते हैं। दुर्घटना के बाद मरीज कुछ घण्टे बेहोश था जिसकी वजह से न्यूरो सर्जन से फिटनेस लेने के बाद सर्जरी की गई। चेहरे की हड्डी को जोड़ने के लिए टाइटेनियम धातू की मिनिप्लेट और स्क्रू लगाए गए।

जानिए क्या है पैन फेशियल फ्रेक्चर

पैन फेशियल फ्रेक्चर एक जटिल ऑपरेशन है क्योंकि चेहरे की हड्डी को पहले की तरह संगठित करना पड़ता है जो कि किसी भी डॉक्टर के लिए चुनौती से कम नहीं है । लेकिन यह सर्जरी ओरल एवं मैक्सिलोफेशियल सर्जन डॉ कामिनी डडसेना ने कर दिखाया एवं डॉ शिवासिष अग्निहोत्री ने ऑपरेशन में उनका सहयोग किया। इस सर्जरी के एनेस्थेटिस्ट डॉ बसंत चौरालिया एवं डॉ श्रीकाजीत थे । जिन्होने साँस की नली सामने के टूटे हुए दाँत के बीच से डालकर मरीज को बेहोश किया। ओ.टी. टेक्निशियन रमेश एवं स्क्रब नर्स गीता ने अहम भूमिका निभाई।

सरकारी अस्पताल में भी जटिल ऑपरेशन संभव

इस जटिल आपरेशन से जहाँ मरीज को नई जिंदगी मिली है।  वही दुर्ग जिला अस्पताल में इस तरह से सफल आपरेशन करके डॉ कामिनी डडसेना ने सफलता के नए आयाम रच दिए है । अब गरीबो को किसी भी तरह की परेशानी में प्राइवेट हॉस्पिटल जाने की जरूरत नही पड़ेगी। शासकीय हॉस्पिटल में बड़े हॉस्पिटलों की तर्ज पर मरीजो को सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है

 

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
506FansLike
50FollowersFollow
821SubscribersSubscribe

मिमोह चक्रवर्ती पहली बार हॉरर कॉमेडी फिल्म “ओय भूतनी के” में...

मुंबई/स्वराज टुडे : मिथुन चक्रवर्ती के पुत्र मिमोह चक्रवर्ती पहली बार एक हॉरर कॉमेडी फिल्म "ओय भूतनी के" में नजर आएंगे। विज़न मोशन फिल्म्स...

Related News

- Advertisement -