बीएड-डीएड कॉलेज मान्यता घोटाला: स्पेशल टास्क फोर्स द्वारा NCTA के चेयरपर्सन और जीवाजी यूनिवर्सिटी के कुलपति को भेजा गया नोटिस

- Advertisement -

मध्यप्रदेश
भोपाल/स्वराज टुडे: मध्य प्रदेश बीएड-डीएड कॉलेज मान्यता घोटाला में स्पेशल टास्क फोर्स द्वारा नेशनल काउंसिल फॉर टीचर एजुकेशन के चेयरपर्सन और जीवाजी यूनिवर्सिटी के कुलपति को नोटिस जारी किया गया है।

एसआईटी ने खेत को कॉलेज बताने वाले अधिकारियों के नाम मांगे

SIT को ग्वालियर-चंबल क्षेत्र के 6 कॉलेजों की जांच में पता चला था कि मान्यता के लिए फर्जीवाड़े की सभी हद पार कर दी गई थी। आरोपियों ने जहां कॉलेज होना बताया, उस भूमि पर खेत बने हैं। कॉलेज की बिल्डिंग तो दूर की बात है, कच्ची झोपड़ी भी नहीं बनी हुई है। एसटीएफ एसपी राजेश सिंह भदौरिया ने बताया कि एनसीटीई दिल्ली और जीवाजी यूनिवर्सिटी के प्रमुख को नोटिस जारी किए हैं। जवाब मांगा है कि फर्जी तरीके से 6 कॉलेज का मान्यता से पूर्व इंस्पेक्शन किसने किया था। मान्यता दिलाने में किस अधिकारी कर्मचारी की क्या भूमिका था। उनके नाम और पद की जानकारी मांगी है। जिससे दोषी अधिकारी-कर्मचारियों पर भी कार्रवाई की जा सके। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। जांच पूरी होते ही आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी।

भवन बनाने की परमिशन भी फर्जी निकली

ग्राम पंचायत से भवन बनाने की अनुमति भी फर्जी तरीके से ली गई। यहां तक कि सरपंच के साइन तक फर्जी किए गए। इसी के साथ बैंक की फिक्स डिपॉजिट रिसीप्ट (एफडीआर) भी फर्जी तरीके से बना ली। एसटीएफ अब एससीटीई और जीवाजी यूनिवर्सिटी के कर्मचारियों की भूमिका की जांच भी कर रही है। 29 मई को एसटीएफ ने 6 कॉलेजों के खिलाफ धोखाधड़ी, कूट रचित दस्तावेज तैयार करना और आपराधिक षड्यंत्र की धाराओं में केस दर्ज किया था।

बैंक की फिक्स डिपाजिट रिसिप्ट ​​भी फर्जी​​​​​

एसटीएफ के एसपी राजेश सिंह भदौरिया ने बताया कि अब तक की जांच में सामने आया कि कुछ कॉलेजों ने मान्यता के लिए जो एफडीआर लगाई थी, जांच के दौरान बैंक ने उन्हें फर्जी करार दिया है। कॉलेज में भवन निर्माण के लिए डायवर्सन आदेश को जिस एसडीओ कार्यालय से जारी करना बताया गया, वहां से उन्हें जारी ही नहीं किया है। भवन पूर्णता आदेश जिन पंचायतों से जारी करना बताया गया, उन पंचायतों ने ऐसे आदेश जारी करने की बात से ही इनकार कर दिया है।

इन कॉलेजों पर दर्ज है एफआईआर

● अंजुमन कॉलेज ऑफ एजुकेशन सेवड़ा (दतिया),
● प्राशी कॉलेज ऑफ एजुकेशन मुंगावली (अशोक नगर),
● सिटी पब्लिक कॉलेज शाढ़ौरा (अशोक नगर),
● मां सरस्वती शिक्षा महाविद्यालय, वीरपुर (श्योपुर),
● प्रताप कॉलेज ऑफ एजुकेशन, बड़ौदा (श्योपुर),
● आइडियल कॉलेज, बरौआ (ग्वालियर)।

यह भी पढ़ें: BPSC असिस्टेंट इंजीनियर सिविल भर्ती परीक्षा के लिए आवेदन हुए शुरू, ये रही भर्ती डिटेल

यह भी पढ़ें: ग्राम बंजारी पहुंच दंतैल हाथी ने मचाया उत्पात, एक मकान पर किया कब्जा, दहशत में ग्रामीण

यह भी पढ़ें: विदेश से MBBS करके आए स्टूडेंट्स के लिए डॉक्टर बनना मुश्किल, नियम बदल गए हैं !

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
506FansLike
50FollowersFollow
843SubscribersSubscribe

शहर को खोदापुर की तरफ ले जाते स्मार्ट अमित कुमार आयुक्त...

*व्यापार विहार स्मार्ट रोड में खड्डे, वाहन हो रहें दुर्घटना ग्रस्त बिलासपुर/स्वराज टुडे : जब से स्मार्ट शहर का स्मार्ट आयुक्त अमित कुमार आये हैं...

Related News

- Advertisement -