बिना आंधी तूफान के रात-रात भर बिजली बंद, बरपाली बिजली विभाग की लापरवाही उजागर

- Advertisement -

छत्तीसगढ़
कोरबा-करतला/स्वराज टुडे: बरपाली विद्युत वितरण केंद्र अंतर्गत आने वाले दर्जनों गांव वर्षों से बिजली समस्या का दंश झेल रहे है। थोड़ा से ही आंधी तूफान आने पर रात रात भर बिजली आपूर्ति ठप हो जाती है। ग्राम देवलापाठ, चिचोली, तिलाईभांठा, संजयनगर, फरसवानी, फुलझर सहित दर्जनों गांवों में वर्षों से बिजली की समस्या बनी हुई है। वही बिजली कर्मचारियों को सूचना देने के लिए फोन करने पर फोन तक नही उठाते और सूचना देने बाद भी समय पर बिजली समस्या को ठीक नही करते। वही बरपाली क्षेत्र के कनिष्ठ यंत्री भी बिजली की बदहाल व्यवस्था सुझारने में रुंची नही लेते।

रात में बिजली आपूर्ति ठप होने पर बिजली कर्मचारियों द्वारा बनाया नही जाता। लाइनमैन केवल दिन पर ड्यूटी करते है रात्रि में होने वाले समस्याओं पर विभाग का कोई ध्यान नही। जबकि बिजली विभाग नियमित, संविदा कर्मचारियों एवं प्राइवेट व्यक्तियों के माध्यम से लाखों रुपये रखरखाव पर खर्च करती है। उसके बाद भी उपभोक्ताओं बिजली की कटौती जैसे समस्याओं से जूझना पड़ता है।

लंबे समय से जमे कर्मचारी, नही सुनते जनता की बात

विद्युत वितरण केन्द्र बरपाली में लंबे अरसे से जमे हुए कर्मचारियों को आम आदमी के बिजली समस्याओं से सरोकार नही हैं। फोन पर समस्याओं को बताने से बिजली कर्मचारी उसपर ध्यान नही देते।

भलमड़ा और सिरकीडीह में 5 माह से बिगड़ा ट्रांसफार्मर नही बना सके

ग्राम भलमड़ा तथा सिरकीडीह में विगत 5 माह से बिजली आपूर्ति ठप है। ट्रांसफार्मर खराब होने से बिजली आपूर्ति नही हो पा रही है विभाग को सूचना दिए 5 माह से ज्यादा समय बीत गए उसके बाद भी बिजली कर्मी अबतक समस्या का निराकरण नही कर पाए है।

नवापारा (रोगदा) में 15 दिनों में नही लगा पाए ट्रांसफार्मर।

ग्राम पंचायत नवापारा ( naka) में ट्रांसफार्मर खराब हो गया है। 15 दिनों से ज्यादा समय बीत जाने के बाद भी बिजली विभाग अबतक बिजली व्यवस्था ठीक नही कर पाए।

*निमेष राठौर की रिपोर्ट*

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
506FansLike
50FollowersFollow
820SubscribersSubscribe

याचिकाकर्ता दो बिजली कर्मचारियों को हाई कोर्ट से मिली बड़ी राहत

छत्तीसगढ़ बिलासपुर/स्वराज टुडे:  बिजली कंपनी से सेवानिवृत हुए दो कर्मचारियों की याचिका पर सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट ने एक महीने के भीतर दोनों याचिकाकर्ताओं...

Related News

- Advertisement -