प. बंगाल की अभिनेत्री एल्सा घोष छत्तीसगढ़ी फिल्मों में बिखेर रही अपना जलवा

- Advertisement -

छत्तीसगढ़
रायपुर/स्वराज टुडे: छत्तीसगढ़ी फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखने वाली प्रसिद्ध हीरोइन एल्सा घोष को आज हर कोई जानता है। एल्सा घोष का जन्म 30 जुलाई 2001 को कोलकाता के एक मध्यम वर्गीय परिवार में हुआ था।

एल्सा घोष ने बताया कि उन्होंने 2012 की बंगाली फिल्म 100% लव बंगाली में एक बाल कलाकार के रूप में अपने करियर की शुरुआत की तब उनकी उम्र लगभग 10 वर्ष थी । इसके बाद अपनी बेहतरीन अभिनय के कारण उन्होंने न सिर्फ बंगाली फिल्म बल्कि उड़िया तेलुगू और छत्तीसगढ़ी फिल्मों में अपने अभिनय का लोहा मनवाया।

एल्सा घोष ने बताया कि एक्टिंग के प्रति उनका बचपन से लगाव था । वह अपने घर में दर्पण के सामने अभिनय किया करती थी। बंगाली, उड़िया, छत्तीसगढ़ी और तेलुगु फिल्मों में काम करने वाली एल्सा घोष ने बताया कि सबसे ज्यादा मजा छत्तीसगढ़ी फिल्मों में काम करने में आता है। इसका मुख्य कारण यह है कि यहां की प्राकृतिक सुंदरता मन को मोह लेने वाली है। साथ ही दर्शकों और कलाकारों का काफी सपोर्ट मिलता है । यहां शूटिंग करने के लिए जगह की कमी नहीं है । घने पेड़ों से लड़े जंगल है, तो खूबसूरत पहाड़ों में झरने हैं । प्राकृतिक वादियां है , इसलिए अब बॉलीवुड मूवी और वेब सीरीज की शूटिंग यहां पिछले कुछ समय से ज्यादा हो रही है ।

छत्तीसगढ़ी फिल्म ‘ले शुरू हो गए मया’ में इन्होंने पहली बार कदम रखा । इस फिल्म की शूटिंग कार्डल शिवरीनारायण और रायपुर के खूबसूरत लोकेशंस पर हुई है।

उन्होंने यह भी कहा कि फिल्मी करियर ऐसा है कि लोग इसके बारे में गलत धारणा बना ही लेते हैं लेकिन अगर आपका परिवार आपके माता-पिता आपके साथ है तो लोगों की बातों की परवाह नहीं करनी चाहिए । ऐसे लोग आपको आगे बढ़ते हुए नहीं देखना चाहते । एल्सा ने यह भी कहा कि सफलता के लिए उम्र नहीं मेहनत ज्यादा होनी चाहिए । आप जितनी ज्यादा मेहनत करेंगे , सफलता आपको उतनी ही जल्दी मिलेगी।

उनकी पहली छत्तीसगढ़ी फिल्म ‘ ले शुरू हो गए मया’ की कहानी को दर्शकों द्वारा काफी पसंद किया गया।मोर छाइहाँ भुइँया-2 को देखने के लिए सिनेमा घरों के साथ-साथ मल्टीप्लेक्स में देखने को कॉमेडी किंग के नाम से मशहूर अमलेश नागेश, अभिनेत्री और मॉडल एल्सा घोष फिल्म के प्रमोशन के लिए रायपुर पहुंची हुई है।

इस दौरान उन्होंने अपने फिल्मी जीवन से जुड़ी कहानी को पत्रकार वार्ता में साझा किया । उन्होंने 10 वर्ष की उम्र से अभिनय की शुरुआत की और आज इस मंजिल में पहुंचा दिया कि लोगों के दिलों दिमाग में सिर्फ एल्सा घोष ही याद आता है क्योंकि एक्टिंग करने में वो काफी टैलेंटेड है।

अब रहा सवाल ऐसा घोष के फिल्मी सफरनामा की तो अब तक की फिल्में जो निम्न है।
● बंगाली फिल्म 100% लव बंगाली 2012 इसमें बाल कलाकार के रूप में डेब्यू फिल्म है।
● उसके बाद छत्तीसगढ़ी फिल्म में मयारू गंगा 201, उसके बाद महू कुंवारा तहूं कुंवारी यह फिल्म 2019 को रिलीज हुई थी ।
● सारी लव यू जान 2019 में सबसे महत्वपूर्ण फिल्म जो 2023 को रिलीज हुई थी सुपर डुपर हिट फिल्म शुरू हो गे माया के कहानी यह फिल्म 2023 को अवार्ड भी दिलाया।
● उड़िया फिल्म दीपू द डांस बाय यह फिल्म 2018 2017 को भैरव तू मोर सुना चदेल यह फिल्म 2019 की तेलुगु फिल्म कृष्ण राव सुपर मार्केट 2019 तेलुगू डंऐव्यू फिल्म 24 कैरैट लवली प्रेमा 2021 उसके बाद तेलुगु फिल्म रामूडू अनु को लड्डू जानकी का अलंकार लड्डू 2022।

वर्तमान में 2024 में सबसे अच्छी फिल्म छत्तीसगढ़ी भाषा में मशहूर फिल्म डायरेक्टर एंड प्रोड्यूसर सतीश जैन के मार्गदर्शन में बनी फिल्म मोर छइहाँ भुईया-2 में एल्सा घोष, दीपक साहू, मन कुरैशी और दीक्षा जायसवाल लीड रोल पर हैं ।इस फिल्म का प्रदर्शन 24 तारीख से छत्तीसगढ़ राज्य के समस्त सिनेमाघर मल्टीप्लेक्स एव पीवीआर में प्रदर्शन किया जा रहा है। एल्सा घोष की आने वाली फिल्म टीना टप्पर जल्द रिलीज होने वाली है जिसके डायरेक्टर प्रणव झा हैं । वहीं अपकमिंग साउथ फ़िल्म ‘ज़ीरो’ भी रिलीज के लिए तैयार है ।

ऐल्सा घोष कहती है कि मेरी उम्र जब 10 साल की थी तब से फिल्मों में काम करने के लिए मेरे मन में एक सपना था और वह सपना आज पूरा हुआ है । उनको पूरा विश्वास है कि पिछली फिल्मों की तरह दर्शकों को उनकी आने वाली फिल्में भी बहुत पसंद आएगी और उन्हें उनका भरपूर प्यार मिलेगा।

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
506FansLike
50FollowersFollow
821SubscribersSubscribe

मिमोह चक्रवर्ती पहली बार हॉरर कॉमेडी फिल्म “ओय भूतनी के” में...

मुंबई/स्वराज टुडे : मिथुन चक्रवर्ती के पुत्र मिमोह चक्रवर्ती पहली बार एक हॉरर कॉमेडी फिल्म "ओय भूतनी के" में नजर आएंगे। विज़न मोशन फिल्म्स...

Related News

- Advertisement -