पति के अवैध संबंध का पत्नी करती थी विरोध….तो पत्नी का कर दिया बेरहमी से कत्ल

- Advertisement -

पंजाब
संगरूर/स्वराज टुडे: पंजाब के संगरूर जिला मुख्यालय से लगभग 53 किलोमीटर दूर गाँव रामपुरा जवाहरवाला स्थित है.यहां एक शख्स ने अपनी पत्नी को केवल इसलिए करंट लगाकर मौत के घाट उतार दिया क्योंकि वह अपने पति का दूसरी महिला के साथ अवैध संबंध का विरोध करती थी. उसके रोकने पर वह पत्नी से अकसर लड़ाई-झगड़ा करता था और उसे पसंद नहीं करता था.

पुलिस को दी गई शिकायत में प्रार्थिया ने बताया कि उसकी बहन रीना कौर (26) की शादी 8 वर्ष पहले गांव रामपुरा जवाहरवाला निवासी कुलदीप सिंह के साथ हुई थी. उसकी दो बेटियां हैं. शादी के कुछ समय बाद ही रीना कौर को उसका पति परेशान करने लगा था. उसे कई बार रिश्तेदारों ने समझाने की कोशिश भी की थी. इस संबंधी वह कई बार रीना कौर के ससुराल भी आए थे परंतु उसने रीना कौर को परेशान करना बंद नहीं किया.

मृतका की मां जसबीर कौर ने बताया कि कुलदीप सिंह अपनी पत्नी रीना को पसंद नहीं करता था क्योंकि उसके किसी अन्य महिला के साथ संबंध थे. घर पर अकसर कुलदीप सिंह उक्त महिला के साथ फोन पर बातचीत करता रहता था. रोकने पर पत्नी को धमकी देता था कि वह अपनी दोनों बेटियों को साथ लेकर उस महिला के पास चला जाएगा. पत्नी को जान से मारने की धमकी भी दी जाती थी. ऐसे में अकसर बेटी मायके में फोन कर बताती थी कि पति एक दिन उसे मार देगा.

मायका परिवार ने हत्या का लगाया आरोप

रीना कौर का चचेरा भाई मंगलवार को उसके ससुराल मिलने के लिए गया था तब रीना कौर ठीक थी. जब वह वापस घर पहुंचा तो कुलदीप सिंह ने फोन कर बताया कि रीना को करंट लग गया है. इसका पता चलते ही वह तुरंत रीना कौर के ससुराल पहुंचे जहां पर उसकी लाश चारपाई पर पड़ी थी. मृतका के परिजनों ने आरोप लगाया कि रीना कौर को अपने आप करंट नहीं लगा बल्कि उसे करंट या किसी अन्य ढंग से मौत के घाट उतार दिया गया है क्योंकि पति रीना कौर को अपने रास्ते का रोड़ा समझता था.

फिलहाल पुलिस ने मायका पक्ष का बयान लेकर आरोपी पति के विरुद्ध हत्या का मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है.

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
506FansLike
50FollowersFollow
822SubscribersSubscribe

पहली बीवी के रहते दूसरी से किया निकाह.. फिर दो बच्चे...

उत्तरप्रदेश बरेली/स्वराज टुडे: देश में तीन तलाक पर कड़े कानून लागू कर दिए जाने के बावजूद तलाक देने के सिलसिले पर लगाम लगती नजर नहीं...

Related News

- Advertisement -