नूपुर शर्मा, टी राजा समेत हिंदू नेताओं की हत्या की साजिश रचने वाला मौलवी सूरत से गिरफ्तार, जानें कैसे चढ़ा पुलिस के हत्थे

- Advertisement -

गुजरात
सूरत/स्वराज टुडे: लोकसभा चुनाव के बीच सूरत क्राइम ब्रांच को बड़ी सफलता हाथ लगी है. देश के हिंदूवादी नेताओं और भाजपा नेताओं को जान से मारने की धमकी देने और उन्हें धमकाने का षड्यंत्र रचने वाले आरोपी मोहम्मद शोहेल उर्फ मौलवी अबूबकर टीमोल को सूरत क्राइम ब्रांच ने कठौर इलाके से गिरफ़्तार किया है.

सोहेल अबूबकर मौलवी पूर्व बीजेपी नेता नूपुर शर्मा, भाजपा विधायक टी.राजा सिंह, हिंदूवादी नेता उपदेश राणा को जान मारने का षडयंत्र रच रहा था. पेशे से मौलवी के मोबाइल फोन के चैट से कई हैरान करने वाले खुलासे हुए हैं.

उपदेश राणा को मारने के लिए 1 करोड़ की सुपारी

गिरफ़्तार आरोपी सोहेल अबूबकर पाकिस्तान और नेपाल सहित कई देशों में रहने वाले कट्टरपंथियों के साथ संपर्क में था. पुलिस को उसके मोबाइल फोन से हिंदू सनातन संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपदेश राणा को मारने के लिए 1 करोड़ की सुपारी देने और पाकिस्तान से हथियार मंगाने के चैट भी मिले हैं. उपदेश राणा को पाकिस्तान और नेपाल सहित अन्य देशों के कट्टरपंथी व्हाट्सऐप ग्रुप में जोड़कर कमलेश तिवारी की तरह मारने की धमकी दी थी.

शारीरिक रूप से तगड़े और मानसिक रूप से कट्टरपंथी अबूबकर टीमोल की उम्र तो महज 27 साल ही है लेकिन यह पिछले कुछ समय से अपनी कट्टरपंथी सोच के चलते न सिर्फ सूरत में रहने वाले सनातन संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपदेश राणा को मारने के लिए पाकिस्तान से हथियार मंगा रहा था बल्कि इस काम को पूरा करने के लिए वह एक करोड़ रुपए भी दे रहा था. भाजपा की निलंबित नेता नूपुर शर्मा,भाजपा विधायक टी.राजा सिंह और को भी मारने और धमकाने का भी षड्यंत्र रचा था.

कमिश्नर का बयान

सूरत के पुलिस कमिश्नर अनुपम सिंह गहलोत ने कहा, ”सूरत सिटी क्राइम ब्रांच को सूचना मिली थी कि एक शख्स की हरकत देश विरोधी है और इसलिए उस पर नजर रखी जा रही है. उसे सूरत के चौक बाजार इलाके से हिरासत में लिया गया और उसका मोबाइल जब्त कर लिया गया. वह पाकिस्तान और नेपाल के लोगों से चैट कर रहा था. उसकी योजना सबसे पहले हिंदू सनातन संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपदेश राणा को निशाना बनाने की थी.’

धागा बनाने वाली कंपनी में काम करता है आरोपी

सूरत क्राइम ब्रांच की गिरफ्त में आया अबूबकर टीमोल सूरत ग्रामीण के कामरेज तहसील अंतर्गत आने वाले कठौर गांव का रहने वाला है. आरोपी तो एक धागा बनाने वाली कंपनी में काम करता है और अपने घर पर ही मुस्लिम बच्चों को धार्मिक ज्ञान भी देता है इसलिए उसे मौलवी भी कहते हैं. सूरत क्राइम ब्रांच को इसकी कट्टरपंथी मानसिकता को लेकर कुछ दिन पहले भनक लगी थी.

मोहम्मद सोहेल उर्फ मौलवी अबूबकर पिछले डेढ़ साल से पाकिस्तान के डोंगर और नेपाल के सेहनाज के साथ सोशल मीडिया पर संपर्क में था. इन तीनों की बातचीत में कहा जाता था कि भारत में नबी की गुस्ताखी में दखल दिया जाता है जिनको सीधा करने की जरूरत है.

ऐसे आया गिरफ्त में

सूरत क्राइम ब्रांच को पता चला था कि मौलवी अंतर्राष्ट्रीय कई देशों के लोगों के साथ व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़कर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए पोस्ट कर रहा है और हिंदूवादी एवं भाजपा के नेताओं को धमकाने और उन्हें करने के लिए षड्यंत्र रच रहा है .

इसी जानकारी के आधार पर सूरत क्राइम ब्रांच इसकी खोज में थी. सूरत क्राइम ब्रांच को इससे संबंधित जानकारी मिली थी कि वह सूरत शहर के एक इलाके में आया हुआ है. सूरत क्राइम ब्रांच के लोग इसे हिरासत में लेकर क्राइम ब्रांच ऑफिस ले गए थे और इसके मोबाइल को जब्त कर इसे प्राथमिक पूछताछ शुरू की. प्राथमिक पूछताछ में इसके मोबाइल से क्राइम ब्रांच को जो जानकारी हाथ लगी उससे क्राइम ब्रांच भी एक बार हैरान रह गई.पाकिस्तान, नेपाल वियतनाम सहित कई देशों के लोगों के साथ व्हाट्सएप ग्रुप में जुड़ा मौलवी धार्मिक उन्माद फैलाने का काम कर रहा था.

यह न केवल अपनी धार्मिक कट्टरपंथी सोच को दिखा रहा था बल्कि हिंदूवादी और बीजेपी नेताओं को मारने की साजिश भी रच रहा था. सनातन संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपदेश राणा को मारने के लिए इसने एक करोड़ रुपए का ऑफर भी ग्रुप पर रखा था और पाकिस्तान के ग्रुप में वहां से हथियार मंगाने के लिए भी दबाव बना रहा था. चैट पर बात करने वाले लोग जल्द से जल्द उसे हथियार मुहैया करवाने का आश्वासन दे रहे थे.

उपदेश राणा ने सूरत पुलिस को दिया धन्यवाद

इस मामले पर उपदेश राणा का भी बयान सामने आया है. उपदेश राणा ने कहा, ‘गिरफ्तार आरोपी ने एक करोड़ रुपए की सुपारी देने की बात स्वीकारी है, जिस षड्यंत्र को गुजरात पुलिस सूरत पुलिस ने पर्दाफ़ाश किया है. इसमें और परत खोलने की पूरी संभावना है. अभी 1 महीने पहले मेरी गोडादरा पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज हुई है और मुझे आरडीएक्स से उड़ाने की धमकी दी जा रही है. इसी से इस मामले में करीबन 25 से 30 एफआईआर दर्ज है. सूरत पुलिस ने बहुत अच्छा काम किया और ऐसे लोगों पर लगाम लगाई है. इनका पूरा ग्रुप जहां है उनको बाहर निकला जाए. पूरी हकीकत आए, मैं इनको आतंकी कहूंगा जिनकी जगह सिर्फ जेल है.’

यह भी पढ़ें: एयर इंडिया ने अपनी बैगेज पॉलिसी में किया बड़ा बदलाव, अब केबिन में ले जा सकेंगे सिर्फ इतना सामान

यह भी पढ़ें: पासपोर्ट बनवाना अब हुआ आसान, बगैर कोई दस्तावेज के हो जाएगा काम, बस अपनाएं ये तरीका

यह भी पढ़ें: ‘पत्नी से अप्राकृतिक संबंध क्राइम नहीं…’ हाई कोर्ट ने रद्द कर दी पति के खिलाफ दर्ज FIR

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
506FansLike
50FollowersFollow
826SubscribersSubscribe

कोरबा लोकसभा से दूसरी बार निर्वाचित सांसद ने ली पद व...

नई दिल्ली/स्वराज टुडे: छत्तीसगढ़ राज्य के कोरबा लोकसभा क्षेत्र क्रमांक 04 से दूसरी बार निर्वाचित हुईं सांसद ज्योत्सना चरणदास महंत ने 22 जून को...

Related News

- Advertisement -