नाबालिग छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म के सभी 5 आरोपी गिरफ्तार, आरोपियों के घरों पर चला प्रशासन का बुलडोजर

- Advertisement -

मध्यप्रदेश
शहडोल/स्वराज टुडे: शहडोल जिले के कल्याणपुर में केंद्रीय विद्यालय के पास जंगल में 10वीं की छात्रा से गैंगरेप के पांचों आरोपियों को पुलिस ने मंगलवार देर रात अलग-अलग स्थानों से गिरफ्तार कर लिया था। घटना के बाद आरोपी शहर से बाहर भाग गए थे।

उमरिया और शहडोल जिले में अपने रिश्तेदारों के यहां जाकर छिपे थे। वहां जाकर पुलिस सभी को गिरफ्तार कर शहडोल ले आई है। इसके सभी आरोपियों के अवैध मकान निर्माण को भी ढहा दिया गया है। गिरफ्तारी के बाद जिला प्रशासन की टीम ने पुलिस की मौजूदगी में सभी के मकान ढहा दिए हैं।

पुलिस अधीक्षक कुमार प्रतीक ने बताया कि गिराफ्तारी के लिए कई टीमों को उमरिया और रीवा जिले में भेजा गया था। पुलिस ने ऐश्वर्य निधि गुप्ता उर्फ लल्लू गुप्ता पुत्र स्वामीदीन गुप्ता (36), साहिल कुरैशी पुत्र सहीद कुरैशी (22), कैलाश उर्फ मन्नू पनिका पुत्र राजू पनिका (29), मोहम्मद समीम पुत्र मोहम्मद अकरम (18), मोहम्मद अफजल अंसारी पुत्र मोहम्मद फारुख अंसारी (28) को गिरफ्तार किया है। ये सभी कल्याणपुर शहडोल के रहने वाले हैं और सभी के अवैध निर्माण वाले मकान जिला प्रशासन की टीम ने ढहा दिया है। गिरफ्तारी के बाद राजस्व विभाग की वैधानिक प्रक्रिया पूरी होते मकानों में बुलडोजर चलवाया गया है।

क्या था मामला

मालूम हो कि सोमवार साम को 15 साल की छात्रा अपने एक दोस्त के साथ ट्यूशन से घर लौट रही थी। तभी रास्ते में आरोपी मिले और छात्रा के दोस्त के साथ मारपीट कर छात्रा को जंगल में झाड़ियों के बीच ले जाकर सभी ने दुष्कर्म किया। घटना की जानकारी लगते ही एडीजीपी डीसी सागर एवं पुलिस अधीक्षक घटनास्थल पहुंचे और आरापियों की पहचान कराई।

आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए 30 हजार इनाम था घोषित 

वारदात को अंजाम देकर सभी 5 आरोपी फरार हो गए थे । एडीजीपी ने आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए 30 हजार रुपये का इनाम भी घोषित किया था। पुलिस अधीक्षक की विशेष टीम ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और उसके बाद जिला प्रशासन की टीम ने कलेक्टर तरुण भटनागर के नेतृत्व में सभी के मकान गिरा दिए हैं।

बुलडोजर एक्शन का महिलाओं ने किया विरोध

बुधवार को प्रशासन की टीम कल्याणपुर में आरोपियों के घर गिराने पहुंची तो अधिकारियों को विरोध का भी सामना करना पड़ा। एसडीएम अरविंद शाह ने बताया कि आरोपियों के घरों की महिलाओं ने विरोध किया, लेकिन बाद में सब संभाल लिया गया और चिंहित एरिया का मकान गिराया गया है।

मुख्य अरोपी ऐश्वर्य निधि गुप्ता उर्फ लल्लू गुप्ता पुत्र स्वामीदीन गुप्ता का पक्का मकान गिराने में अधिक समय लगा। इसका सात कमरे का पक्का मकान और सामने टीन शेड वाला अवैध निर्माण हटाने के लिए दो जेसीबी मशीनें ढाई घंटे तक लगी रहीं, तब कहीं जाकर पूरा मकान जमीदोज हो पाया है। इसी तरह अन्य चार आरोपियों के मकान भी गिराए गए। इन सबके कच्चे मकान थे।

पीड़ित छात्रा के परिजन बोले- आरोपियों का पूरा घर नहीं गिराया तो करेंगे आत्मदाह

प्रशासन की बुलडोजर कार्रवाई को लेकर दुष्कर्म पीड़िता के परिजन काफी नाराज हैं। परिजनों ने कार्रवाई स्थल पर आकर प्रशासन से दो टूक कहा कि यदि आरोपियों के पूरे अवैध निर्माण को जमीदोज नहीं किया गया तो हम लड़की को यहीं लाकर आत्मदाह करेंगे।

यह भी पढ़ें: भगवान शिव को प्रसन्न करने शख्स ने काटकर चढ़ा दी अपनी जीभ, गंभीर हालत में अस्पताल दाखिल

यह भी पढ़ें: सड़क हादसे का ऐसा खौफनाक मंजर पहले कभी देखा ना होगा, देखें रोंगटे खड़े कर देने वाला वीडियो…

यह भी पढ़ें: मोबाइल पर लड़कों से अक्सर बातें करती थी नाबालिग बहन, भाई ने टोका तो बहन ने जघन्य वारदात को दे दिया अंजाम, पढ़िए दिल दहला देने वाली ख़बर

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
506FansLike
50FollowersFollow
820SubscribersSubscribe

’30 लाख रुपये में बिका NEET पेपर…’, आ गया बड़ा कबूलनामा,...

नई दिल्ली/स्वराज टुडे: नीट पेपर लीक मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। आरोपियों ने पूछताछ के दौरान कबूल कर लिया है कि पेपर लीक...

Related News

- Advertisement -