नाग का रेस्क्यू करते समय सर्पमित्र को साँप ने डसा, इलाज के दौरान हुई मौत

- Advertisement -

छत्तीसगढ़
रायगढ़/स्वराज टुडे: सांप…दो अक्षर का यह शब्द सुनते ही एक अलग ही डर का अनुभव होता है, छत्तीसगढ़ के कई जिले ऐसे हैं जहां बरसात लगते ही धरती पर रेंगती है मौत.. कई जहरीले सांप ऐसे हैं जिनके डसने से चंद मिनटों में इंसान काल के गाल में समा जाते हैं। शायद यही वजह है सांपों और इंसानों में द्वद आज भी जारी है। किसी के घर में एक सांप निकल जाए तो पूरा का पूरा परिवार भय से सिहर उठता है। ऐसा ही एक मामला नंदेली से सटे ग्राम बरपाली का सामने आया है। जहां घर में घुसे नाग को निकालने के चक्कर में गांव के ही एक युवक को अपनी जान गंवानी पड़ी।

पूरी तरह प्रशिक्षित नहीं था सर्पमित्र युवक

प्राप्त जानकारी के अनुसार नंदेली गांव से सटे गांव बरपाली में एक किसान के घर नाग सांप घुस गया, जिससे पूरे परिवार में दहशत व्याप्त हो गया। ग्रामीण के द्वारा सांप को घर से निकालने के लिये इसी गांव के रहने वाले एक युवक धनेश्वर सिदार पिता गोकुल सिदार 30 साल को बुलाया गया। बताया जा रहा है कि उक्त युवक पिछले कुछ समय से अपने गांव तथा आसपास के गांव में सांप को पकड़कर जंगल में छोडता रहा है। मगर उक्त युवक सांप पकड़ने प्रशिक्षित नही था। धनेश्वर को जब उक्त किसान के घर सांप घुस जाने की जानकारी मिली तो आज दोपहर करीब 12 बजे वह सांप को निकालने के लिये उसके घर पहुंचा।गांव वालों के मुताबिक धनेश्वर जब सांप को पकड़कर घर से निकालने की कोशिश कर रहा था इसी दौरान नाग ने उसकी हथेली पर डस लिया।

अस्पताल ले जाने में परिजनों ने कर दिया विलंब

सर्प दंश से पीडित होने पर धनेश्वर को तत्काल चिकित्सकीय सहायता की जरूरत थी। मगर उसके परिजनों ने उसे नजदीकी अस्पताल लाकर भर्ती कराने की बजाए आर्युवेदिक उपचार के लिये धूरकोट गांव ले जाया गया, जहां उपचार के दौरान उसकी स्थिति में सुधार की बजाए लगातार गिरावट आने लगी। उसकी स्थिति बिगड़ने पर उसे गंभीर स्थिति में जिला अस्पताल रायगढ़ लाया गया, जहां उपचार के दौरान चंद घंटे पश्चात उसकी सांसे थम गई। इस घटना से बरपाली सहित आसपास के गांव में शोक की लहर दौड़ गई है।

इसलिए बरसात में बढ़ जाता है सांपों का खतरा

उल्लेखनीय रहे कि बारिश के शुरू होते ही नागलोग के रूप में चर्चित जशपुर सहित रायगढ़ जिले के ग्रामीण एवं वनांचल ग्रामों सहित कोरबा, जांजगीर चांपा सहित कई अन्य जिलों में सांप निकलने की घटना बढ़ गई है। बारिश के कारण सांप के बिलों में पानी भर जाने के कारण सांप बिल से निकलकर आश्रय की तलाश में इधर-उधर भटकने लगते हैं और लोगों के घरों में घुस जाने के कारण इस तरह की घटनाएं लगातार सामने आ रही है। प्रदेश सरकार को इन परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए सभी जिला मुख्यालयों में एंटी वेनम सिरम की पर्याप्त मात्रा उपलब्ध रखने के लिये आवश्यक दिशा निर्देश जन हित में दिये जाने चाहिए।

सर्पमित्र रखें इस बातों का विशेष ध्यान

वहीं दूसरी और यह सलाह भी दी जाती है कि जो भी युवक युवती स्नेक रेस्क्यू टीम से जुड़े हुए हैं उन्हें अपनी सुरक्षा का भी ध्यान रखना चाहिए ।  पूरी तरह प्रशिक्षण लिए बिना साँपों का रेस्क्यू करना जानलेवा साबित हो सकता है।

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
506FansLike
50FollowersFollow
866SubscribersSubscribe

कांग्रेस सदैव ही जनता के हितों की रक्षा के लिए है...

छत्तीसगढ़ दुर्ग/स्वराज टुडे: प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देशानुसार जिला कांग्रेस कमेटी के संबंध में पूर्वी ब्लॉक कांग्रेस कमेटी दुर्ग शहर द्वारा आगामी 24 जुलाई को...

Related News

- Advertisement -