नक्सलवाद पर सर्जिकल स्ट्राइक! देश का सबसे बड़ा सफल ऑपरेशन, गृह मंत्री शर्मा ने कहा ‘जान की बाजी लगाने वाले जवानों के जज्बे को सलाम’

- Advertisement -

सुरक्षा बलों के जवानों ने 29 नक्सलियों को मार गिराया। इनमें से कुछ हार्डकोर नक्सली भी शामिल हैं। नक्सल मोर्चे पर पहली बार ऐसा हुआ है कि आमने सामने की लड़ाई में फोर्स नक्सलियों पर पूरी तरह से हावी दिखे और उन्हें संभलने का अवसर ही नहीं दिया।

रायपुर/स्वराज टुडे:  नक्सलवाद के मोर्चे पर सरकार के आक्रामक रूख का सबसे बड़ा नतीजा आज सामने आया है। कांकेर के छोटे बेटिया के जंगलों में आमने सामने हुई बड़ी लड़ाई में सुरक्षा बलों के जवानों ने 29 नक्सलियों को मार गिराया। इनमें से कुछ हार्डकोर नक्सली भी शामिल हैं। नक्सल मोर्चे पर पहली बार ऐसा हुआ है कि आमने सामने की लड़ाई में फोर्स नक्सलियों पर पूरी तरह से हावी दिखे और उन्हें संभलने का अवसर ही नहीं दिया। मुठभेड़ में 3 जवान भी घायल हुए हैं जिन्हें बेहतर इलाज के लिए एयर लिफ्ट किया गया है।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के मार्गदर्शन में हुई सर्जिकल स्ट्राइक

गृह मंत्री विजय शर्मा ने बताया कि कांकेर के दक्षिण में और नारायणपुर के उत्तर में माड़ के एक क्षेत्र में आपरेशन हुआ। इसमें बड़ी संख्या में नक्सली मारे गये। विजय शर्मा ने कहा कि इसके लिए मैं सुरक्षा बलों के जवानों को श्रेय देना चाहता हूँ। सीआरपीएफ, डीआरजी, सीएफ के जवानों के ताकत के बूते यह हो पाया है। इसके लिए मैं पुलिस अधिकारियों की भी प्रशंसा करता हूँ। मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय के नेतृत्व में हम काम कर रहे हैं। गृह मंत्री ने यह भी कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का बड़ा मार्गदर्शन इसके पीछे हैं।

नक्सलियों के गढ़ में घुसकर की गई कार्रवाई

उल्लेखनीय है कि राज्य में भाजपा सरकार आने के बाद नक्सल मोर्चे पर सरकार बिल्कुल एग्रेसिव हो गई है। विजय शर्मा के हाथों गृह मंत्रालय की कमान मिलने के बाद इस संबंध में रणनीतिक बैठकें हुईं। गृह मंत्री अमित शाह भी दिल्ली से पहुंचे और सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से यह है। यह इलाका जहां आपरेशन हुआ, वो माड़ का इलाका है जो नक्सलियों का गढ़ माना जाता है।

मुठभेड़ में हार्डकोर नक्सलियों के मारे जाने की खबर

इनपुट के आधार पर डीआरजी, सीआरपीएफ, सीएफ की संयुक्त टीम निकली और एक बजे के आसपास नक्सलियों से मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ में अनेक हार्डकोर नक्सलियों के मरने की खबर आ रही है। इनमें से एक डिविजनल कमेटी का सदस्य भी बताया जा रहा है।

चार महीनों में 80 नक्सली ढेर

मंगलवार को हुए इस आपरेशन के बाद जवानों का हौसला बहुत बढ़ गया है। बीते कई हफ्तों से जिस तरह से आक्रामक स्ट्राइक हो रही है नक्सलियों का हौसला गिर गया है। चार महीनों में पुलिस जवानों ने 50 से अधिक नक्सलियों को मार गिराया था और आज के आपरेशन के बाद इसकी संख्या 80 तक पहुंच गई है।

प्रदेश की डबल इंजन सरकार नक्सली मोर्चे पर सशक्त

प्रदेश में डबल इंजन की सरकार आने के बाद से नक्सल मोर्चे पर काफी सकारात्मक चीजें दिख रही हैं। विशेषकर मुख्यमंत्री साय और गृह मंत्री शर्मा को इस बात का श्रेय दिया जा सकता है कि उन्होंने यह समझा कि नक्सलवाद एक ऐसा कैंसर है जिसे जब तक जड़ से न मिटाया जाए, यह उभरता ही है। इसलिए मांद में जाकर कैंप खोले गये और जवानों का हौसला बढ़ाया गया। आज इसके नतीजे जो आये हैं वो बस्तर की शांति और अमन के लिए महत्वपूर्ण हैं।

राज्य सरकार बस्तर में अमन के लिए प्रतिबद्ध

आज गृह मंत्री शर्मा ने पुनः इस बात को दोहराया कि हम लोग बस्तर में अमन के लिए प्रतिबद्ध हैं। बस्तर के लोगों को साफ पानी मिले, बिजली मिले, विकास का लाभ पहुंचे। हम संवाद करना चाहते हैं। वे चाहे समूह में करें, प्रतिनिधियों के माध्यम से संवाद करें। बस्तर को अमन चाहिए। इसके लिए हम प्रतिबद्ध हैं।

यह भी पढ़ें: कोरबा से पुरी जा रही बस दुर्घटनाग्रस्त, दो लोगों की मौत.. दर्जनों घायल

यह भी पढ़ें: होटल में हुई कालगर्ल की हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझाई, 4 आरोपी गिरफ्तार..2 की तलाश जारी

यह भी पढ़ें: अगर पुलिस करेगी यह काम…तो मिलेगा 5 लाख का इनाम

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
506FansLike
50FollowersFollow
821SubscribersSubscribe

मिमोह चक्रवर्ती पहली बार हॉरर कॉमेडी फिल्म “ओय भूतनी के” में...

मुंबई/स्वराज टुडे : मिथुन चक्रवर्ती के पुत्र मिमोह चक्रवर्ती पहली बार एक हॉरर कॉमेडी फिल्म "ओय भूतनी के" में नजर आएंगे। विज़न मोशन फिल्म्स...

Related News

- Advertisement -