जोधपुर में दो समुदायों के बीच फिर भड़की हिंसा, पथराव में डीसीपी समेत अनेक पुलिसकर्मी हुए घायल, चार मीडियाकर्मी भी पुलिसिया कार्रवाई के हुए शिकार

- Advertisement -

राजस्थान
जोधपुर/स्वराज टुडे: जोधपुर में लाउडस्पीकर पर हुआ बवाल अभी थमा नहीं है। अब एक बार फिर वहां दो पक्षों के बीच हिंसा हुई है। बताया जा रहा है कि ईद की नमाज के दौरान यह हंगामा बरपा। पुलिस ने इस हंगामे को शांत करने के लिए एक बार फिर लाठीचार्ज किया है।

ईद व अक्षय तृतीया त्योहार की पूर्व रात भड़की हिंसा

ईद व अक्षय तृतीया त्यौहार की पूर्व रात जोधपुर शहर में दो समुदायों के बीच हिंसक झड़पें हुई। जालोरी गेट पर झंडा उतार फेंकने व दूसरा झंडा लगाने को लेकर विवाद शुरू हुआ। इसके बाद दोनों ओर से पथराव शुरू हो गया। पुलिस ने लाठीचार्ज कर हालात काबू में किए। पथराव में डीसीपी भुवन भूषण यादव, एसएचओ अमित सिहाग सहित चार पुलिसकर्मी व कुछ मीडियाकर्मी भी घायल हुए हैं।

प्रशासन ने शहर में बंद की इंटरनेट सेवाएं

दो समुदायों के बीच हुए बवाल को फैलने से रोकने के लिए प्रशासन ने शहर में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी हैं। पत्थरबाजी में कई लोगों के जख्मी होने की खबर है। शहर में माहौल तनावपूर्ण, लेकिन शांत है। जोधपुर जिला प्रशासन ने दोनों पक्षों के लोगों से सौहार्द कायम रखने और त्योहार शांतिपूर्वक मनाने की अपील की है।

ईद की नमाज के लिए सुरक्षा बढ़ाई

जोधपुर प्रशासन ने मंगलवार सुबह पढ़ी जाने वाली ईद की नमाज के लिए सुरक्षा व्यवस्था सख्त कर दी है। तनावग्रस्त जालोरी गेट चौराहे के पास बड़ी ईदगाह है, यहां सैकड़ों लोग नमाज पढ़ने आते हैं। पुलिस ने यहां सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए हैं।

मारवाड़ की भाईचारे की परंपरा कायम रखें:मुख्यमंत्री

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर कहा कि जोधपुर के जालौरी गेट इलाके में दो गुटों में झड़प से तनाव पैदा होना दुर्भाग्यपूर्ण है। प्रशासन को हर कीमत पर शांति एवं व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। जोधपुर, मारवाड़ की प्रेम एवं भाईचारे की परंपरा का सम्मान करते हुए मैं सभी पक्षों से मार्मिक अपील करता हूं कि शांति बनाए रखें एवं कानून-व्यवस्था बनाने में सहयोग करें।

एक समुदाय का झंडा हटाकर अपना झंडा लगाने को लेकर शुरू हुआ विवाद

पुलिस के अनुसार शनिवार-रविवार को जोधपुर शहर में परशुराम जयंती के उपलक्ष्य में रैली निकाली गई थी। इस दौरान जालोरी गेट सर्कल पर लगाए गए थे। मंगलवार को मनाई जाने वाली ईद को लेकर समाज के लोगों ने इसी सर्कल पर झंडे लगाने की कोशिश की तो विवाद हो गया। हिंदूवादी संगठनों ने वहां आकर विरोध दर्ज कराते हुए नमाज के लिए लगाए गए लाउडस्पीकरों को पोल से उखाड़ फेंका। इसके बाद दोनों गुटों में विवाद हो गया। दोनों ओर से पत्थरबाजी शुरू हो गई। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने लाठियां भांजकर भीड़ को खदेड़ा। वहीं दोनों समुदायों के प्रमुख लोगों ने भी जनता से शहर में शांति बनाए रखने की अपील की है

चार मीडियाकर्मियों को पुलिस ने पीटा

उधर, पथराव व हिंसा की घटना का कवरेज करने वाले मीडियाकर्मी पुलिस के गुस्से का शिकार बन गए। जानकारी के मुताबिक पुलिसकमिर्यों ने चार मीडियाकर्मियों की पिटाई कर दी जिसमें वे घायल हो गए ।

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
506FansLike
50FollowersFollow
820SubscribersSubscribe

’30 लाख रुपये में बिका NEET पेपर…’, आ गया बड़ा कबूलनामा,...

नई दिल्ली/स्वराज टुडे: नीट पेपर लीक मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। आरोपियों ने पूछताछ के दौरान कबूल कर लिया है कि पेपर लीक...

Related News

- Advertisement -