जैजैपुर में मुख्यमंत्री शाला सुरक्षा कार्यक्रम सम्पन्न, बड़ी संख्या में संकुल समन्वयक और शिक्षकगण हुए शामिल

- Advertisement -

छत्तीसगढ़
सक्ती/स्वराज टुडे: विकासखण्ड जैजैपुर में विकासखण्ड स्तरीय 03 दिवसीय मुख्यमंत्री शाला सुरक्षा कार्यक्रम अंतर्गत शाला सुरक्षा एवं व्यक्तिगत सुरक्षा के प्रशिक्षण का आयोजन किया गया। इस प्रशिक्षण में सभी 41 संकुलों के संकुल समन्वयक एवं एक-एक शिक्षकगण उपस्थित रहे। इस कार्यक्रम का आयोजन विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी के मार्गदर्शन में श्री रामकुमार साहू (स.वि.शि.अ.) एवं सुश्री मिनाक्षी बेक (स.वि.शि.अ.) के कुशल नेतृत्व में किया गया। इस कार्यक्रम का उद्देश्य बच्चों के सर्वांगीण विकास के साथ-साथ सुरक्षा एवं स्वच्छता की जानकारी होना भी अति आवश्यक है।

प्रशिक्षण के प्रथम दिवस में जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (डाइट) जांजगीर की प्राचार्या श्रीमती राजपूत मैडम उपस्थित रहीं। उन्होंने से सभी शिक्षकों को संबोधित करते हुए कहा की शिक्षकीय कार्य के साथ-साथ शाला सुरक्षा एवं व्यक्तिगत सुरक्षा का ध्यान रखना भी जरुरी है। यदि शिक्षकों को इसकी जानकारी रहेगी तो वह बच्चों को भी सुरक्षा के उपाय सुझा पायेंगे। किसी भी कार्य में सावधानी बरतना अति आवश्यक होता है अन्यथा लापरवाही से दुर्घटना को आमंत्रण देना है। सुरक्षा का पर्यायवाची अनुशासन भी है। यदि हम किसी भी कार्य को अनुशासन से करेंगे तो वह कार्य सफलता पूर्वक पूर्ण होगा। व्यक्तिगत सुरक्षा का ध्यान रखना भी हमारा कर्तव्य है।

प्रशिक्षण के द्वितीय दिवस में फायर एण्ड सेफ्टी प्रशिक्षण का आयोजन किया गया। इस दिवस में डिस्ट्रिक्ट कमांडेंट श्री राजेन्द्र मानवटकर एवं उनकी टीम द्वारा फायर एवं सेफ्टी संबंधी प्रशिक्षण प्रदान कर जानकारी दी गई। इस प्रशिक्षण के दौरान सभी संकुल समन्वयक एवं शिक्षकों ने कहीं भी आगजनी जैसी दुर्घटना होने पर उस पर कैसे नियंत्रण पाया जा सकता है यह सीखा। छोटी-बड़ी सभी प्रकार से आगजनी संबंधी दुर्घटना के बचाव संबंधी सुरक्षा की जानकारी प्राप्त की। फायर एण्ड सेफ्टी प्रशिक्षण के दौरान श्री राजेन्द्र मानवटकर जी ने स्वयं फायर ब्रिगेड के वाहन का प्रत्यक्ष प्रदर्शन कर जानकारी प्रदान किया। जिसमें सभी शिक्षकों ने अत्यंत उत्साह एवं रोमांच पूर्ण प्रशिक्षण प्राप्त किया।

प्रशिक्षण परिसर में ही कचरे के ढेर पर आग लगाकर उसे बुझाने का तरीका शिक्षकों को सिखाया गया। फायर ब्रिगेड के वाहन से अंधेरे स्थलों में लाईट (प्रकाश) की व्यवस्था करना, फायर ब्रिगेड के वाहन से पानी के बौछारों से आग बुझाने के विभिन्न तरीकों का प्रदर्शन किया, जिसे देखकर सभी शिक्षक रोमांचित हो उठे। उनमें फायर ब्रिगेड आगजनी के सुरक्षा के उपायों की सीखने की ललक दिखाई दी। फायर ब्रिगेड का वाहन जो प्रशिक्षण के दौरान लाया गया था वह आधुनिक नवीनतम उपकरणों से सुसज्जित था। जिसे देखने व जानने के लिए सभी के मन में कौतुहल का विषय बना हुआ था। प्राकृतिक आपदाओं जैसे आगजनी, करेंट, आकाशीय बिजली आदि से निपटने हेतु शिक्षकों को उपयोगी एवं महत्वपूर्ण सुझाव दिए।

विदित हो कि श्री मानवटकर जी प्राकृतिक आपदाओं से निपटने के संबंध में जन-जागरुकता फैलाने में व्यक्तिगत रुचि लेकर महत्वपूर्ण भूमिका का निवर्हन कर रहे हैं।

इसी क्रम में प्रशिक्षण के तृतीय दिवस को सहायक विकासखण्ड शिक्षा अधिकारियों केे द्वारा सुरक्षा संबंधी जानकारी प्रदान की गई। इस क्रम में स्वास्थ्य विभाग के द्वारा डॉ. आर के दिवाकर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र हसौद प्रभारी व डॉ हरगोविंद कोशले स्वास्थ्य केन्द्र जैजैपुर के द्वारा स्वास्थ्य सुरक्षा की जानकारी दी गई। इस दौरान सर्प दंश, मधुमक्खी के हमले, स्कूलों में खेलकुद के दौरान बच्चों के फ्रैक्चर, नाक, कान की सुरक्षा, साफ-सफाई, फूड पाइजनिंग इन सभी से सुरक्षा संबंधी प्रशिक्षण प्रदान किया गया।
उपरोक्त 03 दिवसीय प्रशिक्षण दिनांक 25/05/2022 से 27/05/2022 तक स्वामी आत्मानंद शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय जैजैपुर में आयोजन किया गया। जिसमें सभी संकुलों के संकुल समन्वयक एवं शिक्षकों द्वारा उत्साहित होकर प्रशिक्षण प्राप्त किया। प्रशिक्षण में राहुल कोसरिया का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

*पर्सन राठौर की रिपोर्ट*

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
504FansLike
50FollowersFollow
813SubscribersSubscribe

जयमाला के दौरान दूल्हे ने दुल्हन के साथ कर दी गंदी...

उत्तरप्रदेश हापुड़/स्वराज टुडे: उत्तर प्रदेश के हापुड़ में एक दूल्हे को उसकी हरकत बहुत महंगी पड़ गई. दरअसल जयमाला के दौरान स्टेज पर ही दूल्हे...

Related News

- Advertisement -