जहां तीनों बहनों की एक साथ उठी थी डोली, वहीं जली तीनों की एक साथ चिताएं,पढ़िए दिल को झकझोर देने वाली खबर

- Advertisement -

राजस्थान
दूदू/स्वराज टुडे: माता-पिता ने बड़े अरमानों से तीन बहनों की शादी एक साथ तीन भाइयों के साथ की थी ,लेकिन तीनों ही बहनों ने एक साथ दुनिया छोड़ दी और अपने दो मासूम बच्चों को भी अपने साथ ले गई।

बड़े अरमान से तीन भाइयों के साथ अपनी तीनों बेटियों की रचाई थी शादी

माता-पिता ने बड़े अरमानों से तीन बेटियों की शादी एक साथ एक ही परिवार में तीन भाइयों के साथ की थी ,लेकिन तीनों ही बहनों ने एक साथ दुनिया छोड़ दी और अपने मासूम बच्चे भी अपने साथ ले गई। जिस घर से तीनों बहनों की डोली उठी थी उसी घर में तीनों बहनों का शव एक साथ पहुंचा । उसके बाद इन शवों का जब अंतिम संस्कार किया गया तो मानो आसमान ही रो उठा। महिलाओं के परिवार और आसपास के गांवों की महिलाओं को श्मशान में जाने की इजाजत नहीं थी । ऐसे में जब एंबुलेंस से शव घर पर लाए गए तो परिवार के लोग शवों से लिपट पड़े। वहां जो भी मौजूद थे ऐसा कोई व्यक्ति शायद ही बचा होगा जिसकी आंखें नम ना हुई हो ।

ससुराल पक्ष के अनेक लोग गिरफ्तार

इस घटनाक्रम के बाद ससुराल पक्ष के कई लोग गिरफ्तार किए गए हैं । इस पूरे मामले में पुलिस की लापरवाही भी खुलकर सामने आई है। जिस दिन तीनों बहनें अपने दोनों बच्चों के साथ लापता हुई थीं, उसी दिन परिवार के लोग पुलिस के पास पहुंचे थे। लेकिन पुलिस ने आनाकानी की और रिपोर्ट नहीं लिखी । बाद में जब काफी देर तक तीनों बहनें घर नहीं पहुंची तब जाकर पुलिस ने गुमशुदगी की रिपोर्ट की । लेकिन जांच पड़ताल नहीं की।

खुदकुशी से पहले वॉट्सएप स्टेट्स में बयाँ की अपना दर्द

पुलिस ने बताया कि तीन सगी बहनों में से एक मृतका ने मरने से पहले अपने मोबाइल पर दो स्टेटस लगाए थे। इनमें मृतका ने पहले स्टेट्स में लिखा था कि हम पांचों के मरने का कारण हमारे ससुराल वाले हैं, हम मरना नहीं चाहते, पर इनके शोषण से अच्छी मौत है। इस सब में हमारे मां—पापा की कोई गलती नहीं है। वहीं दूसरे स्टेट्स में महिला ने लिखा “हम जा रहे है, अब खुश रहना। हमारे मरने का कारण हमारे ससुराल वाले हैं। रोज—रोज मरने से अच्छा हम मिलकर मर रहे हैं। हे भगवान अगले जन्म में हम बहनों को एक साथ जन्म देना। परिवार वाले चिंता ना करें। अब मृतका के स्टेटस सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं।

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
504FansLike
50FollowersFollow
804SubscribersSubscribe

मोदी की गलत नीतियों के कारण चुनाव बहिष्कार की नौबत, अन्याय...

छत्तीसगढ़ कोरबा/स्वराज टुडे: संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत एसईसीएल की कुसमुंडा परियोजना से प्रभावित ग्राम पाली, पड़निया, सोनपुरी, खैरभवना, जटराज चंद्रनगर, रिस्दी, खोडरी, चुरैल व अमगांव...

Related News

- Advertisement -