कोरबा कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक ने प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को किया सम्मानित

- Advertisement -

कक्षा 10 वीं-12 वी में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले अलग-अलग स्कूल के 40 विद्यार्थियों को किया सम्मानित,

प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले स्कूल के 15 प्राचार्य को किया सम्मानित,

‘खाकी के रंग , युवा मितान के संग’ कार्यक्रम में हुआ सम्मान

कोरबा/स्वराज टुडे: पुलिस अधीक्षक कोरबा श्री भोजराम पटेल द्वारा सामुदायिक पुलिसिंग के क्षेत्र में चलाए जा रहे अभियान के अंतर्गत एक नया पहल करते हुए ” खाकी के रंग युवा मितान के संग” कार्यक्रम में शैक्षणिक सत्र 2021–2022 में मेरिट सूची में आने वाले छात्र-छात्राओं का सम्मान किया गया ।

श्री भोजराम पटेल पुलिस अधीक्षक कोरबा के पद पर पदस्थापना के बाद लगातार बेसीक पुलिसिंग के साथ साथ आम जनता के बीच जाकर उनकी समस्याओं को सुनने का सभी थाना प्रभारियो को निर्देशित किया गया था जिसके फलस्वरूप कोरबा पुलिस का “ख़ाकी के रंग , संगी संगिनी के संग” कार्यक्रम में राष्ट्रीय वृद्धजन सम्मान दिवस के दिन वृद्धजनों को शॉल श्रीफल और हेलमेट देकर राज्य स्तरीय खिलाड़ी को सम्मान किया ।

 इसी प्रकार ग्राम कथरीमाल में “ ख़ाकी के रंग , संगी संगिनी के संग “ किया गया जिसमें ग्रामीण को कम्बल , हेलमेट, स्कूल के बच्चों को पानी बाटल वितरण किया गया था। इस कम्यूनिटी पुलिसिंग को श्री ताम्रध्वज साहू गृहमंत्री छ. ग. शासन के द्वारा सम्मानित किया गया था।

ख़ाकी के रंग , स्कूल के संग “ ख़ाकी रंग , परिवार के संग” के तहत अनेको कार्यक्रमो के दौरान दिनांक 09.06.2022 को बालको नगर थाना के होटल साई मंगलम में “ ख़ाकी के रंग , युवा मितान के संग “ कार्यक्रम के मुख्य आतिथ्य में श्रीमती रानू साहू ज़िला कलेक्टर ,कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री भोजराम पटेल पुलिस अधीक्षक एवं विशिष्ट अतिथि श्री पंकज शर्मा CEO बालकों के साथ बालको प्रबंधन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे ।

इस अवसर पर कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने यूपीएससी की तैयारी और कलेक्टर का पद प्राप्त करने तक किए गए संघर्ष के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि हर असफलता हमें कुछ न कुछ सिखाती है , हमें असफलता के पीछे के कारणों का विश्लेषण करना चाहिए और जब तक सफलता प्राप्त न हो तब तक अपने लक्ष्य को प्राप्त करने की भूख और ज्वाला जलते रहना चाहिए।

पुलिस अधीक्षक श्री भोज राम पटेल ने अपने संघर्षों के बारे में बताते हुए कहा कि शासकीय स्कूल में पढ़ाई करते समय कभी सोचा नहीं था कि वे आईपीएस बनेंगे । साधारण किसान परिवार में जन्म हुआ ,गरीबी और संसाधनों की कमी से जूझते हुए शिक्षक बने और शिक्षक पद से त्यागपत्र देकर यूपीएससी की तैयारी की । उस समय भविष्य तय नही था ,अनिश्चितता का माहौल था ,किन्तु लक्ष्य तय कर चुके थे ,लक्ष्य प्राप्त करने तक अनवरत संघर्ष के परिणामस्वरूप इस मुकाम तक पहुंचें हैं ।अतिथियों ने प्रतिभावान छात्र छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि जीवन में लक्ष्य तय होना बहुत जरूरी है अपना लक्ष्य तय करें और लक्ष्य को प्राप्त होने तक लगातार संघर्ष करते रहें ।
इस अवसर पर 40 प्रतिभावान छात्र छात्राओं को शाल,श्रीफल एवं स्मृति चिन्ह से सम्मानित किया गया । साथ ही छात्र छात्राओं को मेरिट सूची तक पहुंचाने में योगदान देने वाले 15 शिक्षक शिक्षिकाओं को भी सम्मानित किया गया ।

इस अवसर पर नगर पुलिस अधीक्षक कोरबा श्री योगेश साहू, नगर पुलिस अधीक्षक दर्री सुश्री लितेश सिंह ,उप पुलिस अधीक्षक यातायात श्री शिवचरण परिहार, विजय चेलक थाना प्रभारी बालकों,थाना प्रभारी कोतवाली निरीक्षक राजीव श्रीवास्तव , थाना प्रभारी कुसमुंडा निरीक्षक नवीन देवांगन, चौकी प्रभारी रामपुर उपनिरीक्षक कृष्णा साहू चौकी , प्रभारी सीएसईबी उप निरीक्षक नवल साव, चौकी प्रभारी हरदीबाजार मयंक मिश्रा सहित पुलिस विभाग के अधिकारी कर्मचारी एवं गणमान्य नागरिक अनिल द्रिवेदी, सुमेर डालमिया, दुष्यंत शर्मा,श्रीमती अर्चना झा , रमेश जाटवर , उशमान खान तथा पालकगण समेत बड़ी संख्या में शहर के गणमान्य नागरिक उपस्थित थे ।

*पुष्पेंद्र श्रीवास की रिपोर्ट*

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
506FansLike
50FollowersFollow
850SubscribersSubscribe

मामूली विवाद पर हत्या की कोशिश, विधि से संघर्षरत सभी आरोपी...

छत्तीसगढ़ कोरबा-करतला/स्वराज टुडे: दिनांक 16 जुलाई 2824 की रात्रि लगभग 20 बजे थाना करतला क्षेत्र के ग्राम नोनबिर्रा का एक अव्यस्क बालक अपने भाइयों के...

Related News

- Advertisement -