आध्यात्मिकता द्वारा बच्चो के भविष्य गढ़ने का काम- महापौर

- Advertisement -

छत्तीसगढ़
कोरबा/स्वराज टुडे: प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के टी पी. नगर में स्थित विश्व सद्भावना भवन में चौदह दिवसीय बाल व्यक्तित्त्व विकस शिविर का बहुत सुंदर समापन हुआ। इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से नगर निगम महापौर राजकिशोर प्रसाद, विशिष्ट अतिथि अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यु बी एस. चौहान, विशिष्ट अतिथि क्षेत्रीय पर्यावरण अधिकारी प्रमेंद्र पाण्डेय तथा विशिष्ट अतिथि विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी संजय अग्रवाल और स्थानीय सेवाकेंद्र प्रभारी ब्रह्माकुमारी रूक्मणी दीदी उपस्थित थे।

इस अवसर पर महापौर राजकिशोर प्रसाद ने कहा कि संस्था के माध्यम से विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किये जाते रहे है। चाहे वो धार्मिक परिचर्चाए, सड़क सुरक्षा कार्यक्रम, भागवत कथा, मीडिया समाज की आधारशिला कार्यक्रम हो। आप लोगो के माध्यम से समाज को उच्च दिशा देने में अहम भागीदारी निभाई जाती रही है। उन्होने कहा कि बच्चे देश का भविष्य है, और उनके भविष्य को गढ़ने का काम ये संस्था अपने शिविर के माध्यम से वर्ष प्रतिवर्ष करती रही है। आने वाले समय पर यहां से सिखी गई सभी बाते आपके जीवन में अवश्य उपयोगी साबित होगी। सभी बच्चो के उज्जवल भविष्य की कामना की।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक युबी एस. चौहान ने कहा कि बच्चे दिल के सच्चे होते है, उनके अंदर कोई द्वेष राग, दुराभाव नहीं रहता इसलिए बच्चे सबके लाडले बने रहते है, परंतु बच्चे जब धीरे धीरे बड़े होने लगते है तो कही न कही नकारात्मकता भी आ जाती है, परंतु जब ऐसे शिविर का आयोजन होता है तो बच्चो के अंदर आध्यात्मिकता का विकास होता है, और विकृतियों का पतन होता है। क्षेत्रीय पर्यावरण अधिकारी प्रमेंद्र पाण्डेय ने बच्चो से कहा कि शिविर में जो भी बाते सिखाई गई व एक्टिविटीज़ कराई गई उसको सिर्फ प्रतियोगिता के तौर में न ले बल्कि अपने जीवन में छोटे छोटे बदलाव करे इससे आप समाज में बड़ा बदलाव कर सकते है। देश का विकास कर सकते है। विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी संजय अग्रवाल ने बच्चो को कुम्हार के मिट्टी की संज्ञा देते हुए कहा कि वे अभी इस उम्र में है कि उन्हे जैसा चाहे वैसा ढाल सकते है। यहां इस शिविर में चरित्रों का. आध्यात्मिक गुणों का विकास होता हैं। उन्होने लर्निंग बाय डुइंग को महत्वपूर्ण बताया।

स्थानीय सेवाकेंद्र प्रभारी ब्रह्माकुमारी रूक्मणी दीदी ने कहा कि अगर बच्चे छोटेपन से ही अच्छी अच्छी बातें सीखकर जीवन में उतारेंगें तो वे समाज के व देश के आदर्श नागरिक बन जाएगें। इस शिविर में विभिन्न प्रकार के आकर्षक प्रतियोगिताए सिंगिंग, डांसिग, ड्राईंग, हाउस मॉडल, क्विज कॉन्टेस्ट, निबंध, मेडिटेशन, पैसे अनेक प्रतियोगिताए कराई गई। सभी प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय विजेताओं को अतिथियों के द्वारा पुरस्कृत किया गया। बाकि प्रतिभागियों को संतावना पुरस्कार दिया गया। संस्था द्वारा अतिथियों को ईश्वरीय सौगात भेंट किया गया। कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए लवलीन गांधी, आस्था शर्मा, रश्मि शर्मा, खुशी चावलानी, रमा कर्माकर, कमल साहू, सूरज भाई, ब्रह्माकुमारी लीना, ब्रह्माकुमारी मधु का विशेष योगदान रहा। शिविर में लगभग 150-200 बच्चो ने लाभ लिया।

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
506FansLike
50FollowersFollow
821SubscribersSubscribe

मिमोह चक्रवर्ती पहली बार हॉरर कॉमेडी फिल्म “ओय भूतनी के” में...

मुंबई/स्वराज टुडे : मिथुन चक्रवर्ती के पुत्र मिमोह चक्रवर्ती पहली बार एक हॉरर कॉमेडी फिल्म "ओय भूतनी के" में नजर आएंगे। विज़न मोशन फिल्म्स...

Related News

- Advertisement -