आचार संहिता दौरान 2,818 लोगों पर प्रतिबंधात्मक कार्यवाही….1,158 वारंट की तामिली…19,933 लीटर अवैध शराब और पुलिस व निर्वाचन टीमों द्वारा 3.66 करोड़ कीमती कैश व सामान की जप्ती

- Advertisement -

*बिलासपुर जिले में विधानसभा चुनाव शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराने में रही पुलिस की प्रमुख भूमिका

*पुलिस कड़ाई और लगातार पैट्रोलिंग की वजह से जिले में चुनाव के दिन एक भी हिंसा या वाद-विवाद की एफआईआर दर्ज के लिए नहीं मिली शिकायत

बिलासपुर/स्वराज टुडे: जिले में विधानसभा चुनाव संपन्न शांतिपूर्वक कराने में पुलिस कर्मियों और सीएपीएफ के जवानों की प्रमुख भूमिका रही। पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह के निर्देश पर पिछले साल के कुल 3,912 की बजाय इस पूरे साल में अभूतपूर्व संख्या में अब तक 20,921 लोगों पर और आचार संहिता दौरान 2,818 लोगों पर प्रतिबंधात्मक कारवाइयां हुई। इन प्रतिबंधात्मक कार्रवाइयों से सामाजिक तत्वों और गड़बड़ी करने वाले लोगों में एक कड़ा संदेश गया कि चुनाव प्रक्रियाओं में अगर वह बदमाशी करते हैं, तो उनसे सख्ती से निपटा जाएगा। चुनाव के एक दिन पूर्व तक असामाजिक तत्वों व गुंडा बदमाशों की कड़ी निगरानी की गई और थानावार परेड निकाली गई। बहुतों के खिलाफ पुलिस द्वारा जिला बदर के प्रकरण बनाए गए और जिसमें से छह को जिला बदर किया गया और दो पर रासुका लगाकर कार्रवाई हुई। आचार संहिता दौरान 1,158 वारंटी को प्रदेश के अलग-अलग जिलों और दूसरे प्रदेशों से भी लाकर कोर्ट में पेश किया गया।

इन कार्यवाहियों का सीधा असर चुनाव के दौरान देखने को मिला, पूरे जिले में चुनाव के दिन एक भी हिंसा या वाद-विवाद के प्रकरणों में चुनाव के दिन कोई एफआईआर दर्ज नहीं हुई। लगातार पेट्रोलिंग और पुलिस टीम द्वारा शिकायत स्थल पर त्वरित पहुंचने से कही भी बड़ा विवाद नहीं हुआ।

पुलिस द्वारा चलाए जा रहे निजात अभियान जिसके तहत इस साल फ़रवरी माह से अवैध नशा विशेषकर ड्रग्स और अवैध शराब के ऊपर लगातार कार्रवाइयों से नशे के व्यापार पर अंकुश लगा, साथ ही साथ सार्वजनिक जगहों पर शराब पीकर हुडदंग करने वाले लोगों पर लगातार कार्रवाइयों से भी कड़ा संदेश गया। जबकि पूर्व में यह देखा गया कि चुनाव के दिन और उसके पूर्व ऐसे तत्व शराब सेवन कर बदमाशी करते थे, इस बार पूरी तरह से गायब दिखें। पुलिस द्वारा आचार संहिता दौरान रिकॉर्ड 19,933 लीटर और पिछले साल के 6,371 लीटर के बजाय ताबड़तोड़ कार्यवाही करते हुए इस वर्ष में अब तक 36,980 लीटर अवैध शराब जप्त जप्त कर सैकड़ों अवैध कारोबारियों को जेल भेजा हैं।

पिछले पिछले 2018 के आचार संहिता जिसमें 1,11,390 मूल्य कैश व सामान जप्त हुआ की तुलना में इस साल आचार संहिता दौरान पुलिस और निर्वाचन की टीम द्वारा रिकॉर्ड 3.66 करोड़ (1.40 करोड़ कैश व बाकी अन्य) की जप्तियां की गई।

पुलिस अधीक्षक ने शांतिपूर्वक चुनाव सम्पन्न कराने के साथ साथ इस बीच त्यवहारों और वीआईपी बंदोबस्त के दौरान अच्छी ड्यूटी हेतु सभी पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को बधाई दिया है।

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
506FansLike
50FollowersFollow
866SubscribersSubscribe

कांग्रेस सदैव ही जनता के हितों की रक्षा के लिए है...

छत्तीसगढ़ दुर्ग/स्वराज टुडे: प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देशानुसार जिला कांग्रेस कमेटी के संबंध में पूर्वी ब्लॉक कांग्रेस कमेटी दुर्ग शहर द्वारा आगामी 24 जुलाई को...

Related News

- Advertisement -