असम-मेघालय में बाढ़ से भारी तबाही, अब तक 31 की मौत,अगरतला में टूटा 60 साल का रिकॉर्ड

- Advertisement -

असम और मेघालय में बीते दो दिनों में बाढ़ व भूस्खलन में 31 लोगों की मौत हो गई है। असम के 28 जिलों में करीब 19 लाख लोग प्रभावित हैं, जबकि एक लाख राहत शिविरों में हैं। बाढ़ में हुए कुल हताहतों में से 12 असम में और 19 मेघालय में मारे गए हैं।

त्रिपुरा की राजधानी अगरतला में भी भीषण बाढ़ की सूचना है। शहर में महज छह घंटे में 145 मिमी बारिश हुई। त्रिपुरा उपचुनाव के लिए प्रचार भी प्रभावित हुआ है।

मौसिनराम और चेरापूंजी में रिकॉर्ड तोड़ बारिश

अधिकारियों ने बताया है कि मेघालय के मौसिनराम और चेरापूंजी में 1940 के बाद से रिकॉर्ड बारिश हुई है। सरकारी सूत्रों ने बताया कि पिछले 60 वर्षों में अगरतला में यह तीसरी सबसे अधिक बारिश है। अचानक आई बाढ़ के कारण सभी शिक्षण संस्थान बंद कर दिए गए हैं। मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा ने बाढ़ में मारे गए लोगों के परिवारों को 4 लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की है।

असम के तीन हजार गांव बाढ़ की चपेट में

असम में करीब 3,000 गांवों में बाढ़ आ गई है और 43,000 हेक्टेयर कृषि भूमि पानी में डूब गई है। कई तटबंध, पुलिया और सड़कें क्षतिग्रस्त हो गई हैं। असम के होजई जिले में बाढ़ प्रभावित लोगों को लेकर जा रही एक नाव डूब गई, जिसमें तीन बच्चे लापता हैं, जबकि 21 अन्य को बचा लिया गया है।

पीएम मोदी ने बाढ़ के हालात का लिया जायजा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा को फोन करके बाढ़ की स्थिति के बारे में पूछा और केंद्र से हरसंभव मदद का आश्वासन दिया। सीएम सरमा ने ट्वीट किया, “असम में बाढ़ की स्थिति का जायजा लेने के लिए पीएम मोदी ने मुझे आज सुबह छह बजे फोन किया। इस प्राकृतिक आपदा के कारण लोगों को हो रही कठिनाइयों पर चिंता जताते हुए माननीय प्रधानमंत्री ने केंद्र सरकार की ओर से हर संभव मदद का भरोसा दिलाया। उनके आश्वासन और उदारता के लिए कृतज्ञ हूं।”

बाढ़ में फंसे लोगों के लिए विशेष उड़ानों की व्यवस्था

असम सरकार ने बाढ़ और भूस्खलन के कारण फंसे लोगों के लिए गुवाहाटी और सिलचर के बीच विशेष उड़ानों की भी व्यवस्था की है। साथ ही सीएम सरमा ने राज्य के बाढ़ प्रभावित लोगों की मदद के लिए पांच लाख रुपये देने वाले अभिनेता अर्जुन कपूर और फिल्म निर्माता रोहित शेट्टी का आभार व्यक्त किया। वहीं, पड़ोसी अरुणाचल प्रदेश में सुबनसिरी नदी के पानी से बांध जलमग्न हो गया है, जहां पनबिजली परियोजना के लिए काम चल रहा था।

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
506FansLike
50FollowersFollow
850SubscribersSubscribe

मामूली विवाद पर हत्या की कोशिश, विधि से संघर्षरत सभी आरोपी...

छत्तीसगढ़ कोरबा-करतला/स्वराज टुडे: दिनांक 16 जुलाई 2824 की रात्रि लगभग 20 बजे थाना करतला क्षेत्र के ग्राम नोनबिर्रा का एक अव्यस्क बालक अपने भाइयों के...

Related News

- Advertisement -