अग्निपथ योजना के खिलाफ युवाओं को हिंसा के लिए उकसा रहे थे 5 फर्जी अभ्यर्थी, जाँच हुई तो निकला NSUI कनेक्शन

- Advertisement -

गिरफ्तार किए गए आरोपियों में से एक पराग पवार है,
पराग पॉलिटिकल पार्टी के स्टूडेंट विंग का जिला अध्यक्ष है

सहारनपुर/स्वराज टुडे: सेना में भर्ती की नई स्कीम ‘अग्निपथ योजना’ के खिलाफ युवाओं को भड़काने के मामले में उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस के मुताबिक, जांच पड़ताल में पता चला है कि गिरफ्तार लोगों का पॉलिटिकल कनेक्शन है। इनमें से दो लोग लोग अलग-अलग पार्टी के पदाधिकारी हैं और बाकी लोग भी मेंबर्स हैं।

सहारनपुर की रामपुर मनिहारान पुलिस के मुताबिक, कुल पांच लोगों को अग्निपथ योजना के खिलाफ युवाओं को भड़काने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। ये सभी सेना के फर्जी अभ्यर्थी बनकर युवकों को अग्निपथ योजना के खिलाफ भड़का रहे थे।

पुलिस की जांच में सामने आया पॉलिटिकल कनेक्शन

पुलिस ने बताया कि जांच पड़ताल में सामने आया कि ये पांचों आरोपी किसी राजनीतिक दल के सदस्य हैं। फिलहाल, पुलिस पांचों आरोपियों से सख्ती से पूछताछ कर रही है। गिरफ्तार किए गए आरोपियों में पराग, मोहित, सौरभ, उदय और एक अन्य शामिल है।

सहारनपुर पुलिस के अनुसार, गिरफ्तार किए गए आरोपियों में से एक पराग पवार है, जो अखिल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की स्टूडेंट विंग एनएसयूआई का जिला अध्यक्ष है। वहीं एक अन्य का नाम संदीप चौधरी है जो एक समाजवादी पार्टी का जिला पंचायत सदस्य रह चुका है। इन सभी 5 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

सहारनपुर के एसएसपी आकाश तोमर ने बताया कि हम इंश्योर करेंगे कि दूसरा कोई व्यक्ति सेना में भर्ती की तैयारी कर रहे युवाओं को अनर्गल बातों में या भड़काकर या ऐसी कोई बात करता है तो हम लोग उसके खिलाफ एक्शन लेंगे।

वहीं, नेशनल स्डूडेंट यूनियन ऑफ इंडिया (NSUI) के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन ने कहा है कि सहारनपुर में हमारे सदस्य अग्निपथ योजना के खिलाफ शांतिपूर्ण ढंग से धरना प्रदर्शन कर रहे थे। बीजेपी के निर्देश पर उन पर झूठे आरोप लगाकर गिरफ्तार किया गया है। उनके खिलाफ फर्जी मुकदमा दर्ज किया गया है जिसका कोई आधार नहीं है। हम विरोध के दौरान किसी भी तरह की हिंसा के खिलाफ हैं।


यह भी पढ़ें: राज्य महिला आयोग की सुनवाई के दौरान महिला आयोग अध्यक्ष ने दिये निर्देश, शासकीय एवं अर्धशासकीय संस्थाओं में आंतरिक परिवाद समिति का शीघ्र किया जाए गठन अन्यथा होगी सख्त कार्रवाई


यह भी पढ़ें: महिला आयोग की जनसुनवाई में केएन कॉलेज प्रबंधन द्वारा रखा गया गलत तथ्य


 

 

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
506FansLike
50FollowersFollow
823SubscribersSubscribe

52 साल के रिक्शा वाले की 3000 गर्लफ्रेंड्स, पढ़िए हैरान कर...

उत्तरप्रदेश बरेली/स्वराज टुडे: सोशल मीडिया के दौर में इंसान ऑनलाइन जितना सोशल होता जा रहा है, उतना ही झूठा भी. वो अपनी असल जिंदगी को...

Related News

- Advertisement -