अखिलेश यादव के भी करीबी है बाबा साकार हरि, कभी कांस्टेबल रहे बाबा के खिलाफ दुष्कर्म समेत कई गंभीर मामले दर्ज

- Advertisement -
  • सपा प्रमुख अखिलेश यादव से है सूरज पाल उर्फ बाबा साकार हरि का पुराना नाता

  • पिछले वर्ष जनवरी माह में बाबा के सत्संग में शामिल हुए थे अखिलेश

उत्तरप्रदेश
हाथरस/स्वराज टुडे: उत्तर प्रदेश के हाथरस-एटा बॉर्डर पर मंगलवार को सत्संग के दौरान मची भगदड़ में 100 से ज्यादा लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। शुरुआती रिपोर्ट के मुताबिक, सत्संग का नेतृत्व संत भोले बाबा कर रहे थे।

हाथरस-एटा बॉर्डर के पास रतिभानपुर में उनके प्रवचन सुनने के लिए लगभग 50 हजार की संख्या में लोग जुटे थे। पंडाल में भीषण उमस और गर्मी के कारण भगदड़ मच गई। मृतकों में 25 महिलाएं और दो बच्चे शामिल हैं, और मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है। कई महिलाएं, बुजुर्ग और बच्चे घायल हुए हैं, जिनमें से कई की हालत गंभीर बताई जा रही है।

एटा के सीएमओ ने भगदड़ के कारण 25 महिलाओं और दो बच्चों की मौत की पुष्टि की है। बाद में इलाके के प्रशासनिक अधिकारियों ने बताया कि मरने वालों की संख्या 50 से अधिक हो गई है और यह संख्या और भी बढ़ सकती है।

कौन हैं नारायण साकर हरि उर्फ ​​भोले बाबा?

संत नारायण साकार हरि के नाम से प्रसिद्ध, ये संत पश्चिमी उत्तर प्रदेश में विशेष रूप से लोकप्रिय हैं। जानकारी के अनुसार, सफेद सूट और टाई पहने हुए, वह भक्तों को आध्यात्मिक ज्ञान देते हैं और उन्हें भौतिकवाद से ऊपर उठने और ईश्वर की भक्ति को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करते हैं।

रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने एटा जिले के बहादुर नगर में सरकार के गुप्त सेवा विभाग में भी काम किया, लेकिन 1990 में अध्यात्म को आगे बढ़ाने के लिए इस्तीफा दे दिया। कोविड-19 महामारी के दौरान, उन्होंने सत्संग आयोजित करने और मंच पर अपनी पत्नी के साथ चर्चा में भाग लेने के लिए प्रमुखता हासिल की।

बाबा का सियासी कनेक्शन

यौन शोषण समेत पांच अन्य गंभीर मुकदमों का आरोपी सूरज पाल उर्फ बाबा साकार हरि का पुराना सियासी कनेक्शन भी सामने आया है। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव इस बाबा के सत्संग में शामिल होते रहें हैं। पिछले वर्ष जनवरी माह में भी अखिलेश बाबा के सत्संग में शामिल हुए थे और बाबा की महिमा का गुणगान में एक पोस्ट शेयर किया था।

साकार हरि के कार्यक्रम में पहुंचे थे अखिलेश यादव

अखिलेश यादव जब सूरज पाल उर्फ बाबा साकार हरि के कार्यक्रम में पहुंचे थे तो सोशल मीडिया साइट एक्स पर अपनी फोटो के एक पोस्ट शेयर की थी। उन्होंने एक्स पर सत्संग में हिस्सा लेने की तस्वीरें शेयर करते हुए एक पोस्ट भी लिखा था। इसमें अखिलेश यादव ने कहा था कि नारायण साकार हरि की सम्पूर्ण ब्रह्मांड में सदा-सदा के लिए जय जयकार हो।

यही नहीं उत्तर प्रदेश पुलिस में हेड कांस्टेबल की नौकरी के दौरान 28 साल पहले बाबा इटावा में भी पोस्टेड रहा है। जानकारी के मुताबिक नौकरी के दौरान बलात्कार का मुकदमा लिखे जाने के बाद सूरज पाल को पुलिस विभाग से बर्खास्त किया गया था। जेल से छूटने के बाद वह अपना नाम और पहचान बदलकर बाबा बन गया था।

घटना की जांच

इस घटना की जांच के लिए एडीजी आगरा और कमिश्नर अलीगढ़ के नेतृत्व में एक समिति बनाई गई है। सीएम कार्यालय ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की। उन्होंने जिला अधिकारियों को घायलों को उचित उपचार के लिए तुरंत अस्पताल पहुंचाने और घटनास्थल पर राहत कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें: शख्स के पीछे हाथ धोकर पड़ा सांप, 30 दिनों में पांच बार डसा, जहां जहां भागकर छिपता है वहीं प्रकट हो जाता है साँप

यह भी पढ़ें: बड़ी खबर: सत्संग के दौरान मची भगदड़, 122 लोगों की मौत..सैकड़ों घायल, शवों को देख हार्टअटैक से एक पुलिसकर्मी की भी मौत

यह भी पढ़ें: कार्यशाला आयोजित कर नए भारतीय न्याय संहिता कानून को समझा रहे थे अफसर, तभी एक छात्रा ने पूछा ऐसा सवाल कि बगलें झांकने लगी पुलिस

दीपक साहू

संपादक

- Advertisement -

Must Read

- Advertisement -
506FansLike
50FollowersFollow
843SubscribersSubscribe

शहर को खोदापुर की तरफ ले जाते स्मार्ट अमित कुमार आयुक्त...

*व्यापार विहार स्मार्ट रोड में खड्डे, वाहन हो रहें दुर्घटना ग्रस्त बिलासपुर/स्वराज टुडे : जब से स्मार्ट शहर का स्मार्ट आयुक्त अमित कुमार आये हैं...

Related News

- Advertisement -